DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अच्छा इंसान ही समाज और कौम की सेवा कर सकता है : आरिफ

अच्छा इंसान ही समाज और कौम की सेवा कर सकता है : आरिफ

मदरसा दारूल ऊलूम रशीदिया ज्वालापुर के मोहतमिम मौलाना आरिफ कासमी ने कहा कि अच्छा इंसान ही समाज और कौम की खिदमत कर सकता है। अच्छाई की परख के लिए इंसान को दुनियावी और दीनी शिक्षा लेना बेहद जरूरी है।यह बातें उन्होंने गुरुवार को ज्वालापुर ईदगाह रोड स्थित मदरसा अरबिया दारूल उलूम रशीदिया में आयोजित तकरीब-ए-सईद बमौका दस्तारबंदी के दौरान कहीं। मदरसे में कलाम पाक हिफ्ज करने वाले बीस छात्रों की दस्तारबंदी की गई। बीस में सबसे छोटे 13 वर्षीय सोबान और रहमान ने भी बड़ी लगन और मेहनत के साथ कलाम पाक हिफ्ज किया। देवबंद से पहुंचे कारी मो. उस्मान ने अध्ययनरत बच्चों की दस्तारबंदी की। उन्होंने कहा कि मदरसा दारूल ऊलूम रशीदिया में हरिद्वार सहित देश के विभिन्न राज्यों से धार्मिक शिक्षा ग्रहण कर समाज के उत्थान में अपना योगदान दे रहे हैं। मौलाना आरिफ ने कहा कि आठवीं तक दीन व दुनियावी तालीम दी जा रही है। इंसानियत का पैगाम देने के लिए अध्ययनरत बच्चे कड़ी मेहनत से दीन व दुनियावी तालीम हासिल कर रहे हैं। शिक्षा ही राष्ट्र की उन्नति में अपना योगदान दे सकती है। बीस बच्चों को हाफिज मो. उस्मान, कारी मो. इमरान, मौलाना रईस, कारी हिफजुल रहमान की देखरेख में दीनी तालीम प्रदान की गई। मास्टर साजिद ने कहा कि आज के दौर में अंग्रेजी और हिंदी के अलावा उर्दू भाषा का सिखाना प्रत्येक अभिभावक का भी कर्तव्य बनता है। मदरसे में कंप्यूटर की शिक्षा भी छात्रों को दी जा रही है। हाफिज मो. उस्मान और कारी मो. इमरान ने कहा कि इस्लाम धर्म की पहचान इंसानियत से है। हाफिज मो. इस्लाम अहमद ने कहा कि अच्छी तरबीयत से अच्छा इंसान बना जा सकता है। सच्चाई की राह पर चलकर दीन को फैलाना चाहिए। इन बच्चों ने किया कलाम पाक हिफ्ज मो. शाने आलम, तैय्यब, जैनुल आबिदीन, सोबान, हस्सान, आरिफ, हबीबुरहमान, वसीम, जिया उर्रहमान, अनस, दानिश, उबेदउल्लाह, सोएब, काशिफ, जुनैद, आरिफ, शाहवेज, सबरोज, रियासत अली, अब्दुल्ला ने कलाम पाक हिफ्ज किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: A good person can serve the society and the community Arif