अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अली धूम मची वृज कुंजन में सखी धूम मची वृज कुंजन में..

अली धूम मची वृज कुंजन में सखी धूम मची वृज कुंजन में..

चम्पावत के काली कुमाऊं क्षेत्र में पूर्णिमा के दिन होली की धूम मची हुई है। श्रृंगार रस की होलियों का गायन पूरे शबाव पर है। बाजार में कई जगह महिलाओं की बैठकी होली का आयोजन किया गया। मादली, गौरलचौड़, ढकना बडौला, छतार, खर्ककार्की, डुंगरासेठी, बाजरीकोट, किसकोट, पवेत आदि गांवों सहित शिरोमणि चिल्ड्रन पार्क और जिला मुख्यालय में महिलाओं सहित पुरुषों की होली की धूम मची हुई है।

इस दौरान श्रृंगार रस पर आधारित होलियों का गायन चरम पर है। हंसी-ठिठोली, हास-परिहास और देवर-भाभी के अनेक किस्से कहानियों पर आधारित होलियों का गायन किया जा रहा है। लगी लगी पिरत कैसे तोड़ी तुम बोलो क्यों ना सुंदर गोरी..., उम्दा जोबन कहा ना माने, भर गई नदियां सावन की..., पूरे सोलह साल बालम कब तक पड़ी रहूं मायके में..., होरी आय रही होरी छाय रही मत जाओ पिया होरी आय रही..., किस वन ढूंढो जाय राधिका तेरो कन्हैया बनवारी...,आली धूम मची वृज कुंजन में सखी धूम मची वृज कुंजन में...के साथ ही महिलाओं ने अनेक श्रृंगार आधारित होलियों का गायन कर समा बांध दिया। इस दौरान महिलाओं सहित बच्चों की होलियों में भागीदारी देखते ही बनी। महिलाओं ने स्वांग रचाते हुए अनेक विधाओं में होली गायन किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Women's Holi singing shout at Champawat