DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बागेश्वर के जंगलों में धधक रही आग से वन्य जीवों को खतरा

बागेश्वर के जंगलों में धधक रही आग से वन्य जीवों को खतरा

बागेश्वर के वनों में भीषण आग लगी हुई है। इससे पर्यावरण पर खतरा मंडरा गया है। वातावरण में चारों तरफ धुंआ ही धुंआ फैल गया है। लोग सांस लेने में दिक्कत महसूस कर रहे हैं। वहीं वन विभाग आग पर काबू पाने में जुट गया है। वनों में आग से वन्य जीवों के लिए भी खतरा पैदा हो गया है।

पिछले 24 घंटे से बागेश्वर के नीलेश्वर, आरे, ठाकुरद्वारा वार्ड के पीछे के जंगलों में भीषण आग लगी हुई है। ठाकुरद्वारा वार्ड से सटे आरे बाइपास सड़क से नीचे तक आग फैल रही है। ग्रामीणों ने बीती रात दहशत में काटी। आग लगने से जहां पर्यावरण पर खतरा मंडराने लगा है। वहीं वन्यजीवन भी खतरे में पड़ गया है। हालांकि वन विभाग की टीम रातभर आग पर काबू पाने में जुटी रही। लेकिन आग तेज होने से अब भी जंगल सुलग रहे हैं।

वज्यूला के जंगल फैली आग

गरुड़ के वज्यूला क्षेत्र में भी आग ने जंगलों को जकड़ लिया है। सामाजिक कार्यकर्ता हेम चंद्र पंत ने बताया कि आग बेकाबू होते जा रही है। ग्रामीण आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन आग की लपटें तेज होने से आग बुझाई नहीं जा रही है। उन्होंने कहा कि वन विभाग की नींद अभी भी नहीं खुल सकी है। जिससे हरी घास, पेड़, पौधे, जीव जंतु, पक्षी आदि मरने लगे हैं। उन्होंने कहा कि यह आग वज्यूला रेंज कार्यालय से शुरू हुई। अधिकारी लोगों पर आग लगाने का इल्जाम लगा रहे हैं। लेकिन आग बूझाने की कोई कोशिश नहीं की जा रही है। आग लगातार अनियंत्रित हो रही है।

कपकोट के जंगल जलकर हुए खाक

पिछले 36 घंटे से कपकोट के तमाम जंगल जलगर खाक हो गए हैं। कपकोट रेंजर आफिस के ऊपर आग लगने के बावजूद भी विभाग नहीं चेता। सामाजिक कार्यकर्ता मनोज तिरुवा ने बताया कि यदि आग पर काबू नहीं पाया गया तो ईमारती लकड़ी, पशुओं के लिए चारा, पानी आदि की दिक्कत होगी। उन्होंने बताया कि जंगलों में आग लगने से तेंदुआ, भालू, बंदर, सियार, जंगल सुअर गांव और शहर की तरफ आने लगे हैं। जिससे मानव जीवन को दोतरफा खतरा बना हुआ है।

वहीं जालेख के वन में भयंकर आग लगी हुई है। वन संपदा जलकर नष्ट हो गई है। निरह पशु और पक्षियां भी आग की चपेट में आने से मरने लगे हैं।

कपकोट, गरुड़, बागेश्वर में आग नियंत्रण करने के लिए रातभर वन विभाग की टीम ने मशक्कत की। नीलेश्वर, आरे, ठाकुर द्वारा के वनों में आग पर काबू पा लिया गया है।

-आरके सिंह, डीएफओ, बागेश्वर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Wildlife threat from fire in Bageshwar forests