DA Image
30 नवंबर, 2020|11:30|IST

अगली स्टोरी

यूएसनगर डीईओ का आदेश निरस्त, प्रधानाध्यापक की बहाली के निर्देश

default image

हाईकोर्ट ने ऊधमसिंह नगर के जिला शिक्षा अधिकारी की ओर से 14 जुलाई 2020 को जारी प्राथमिक विद्यालय फूलसुंगा के प्रधानाध्यापक की सेवा समाप्ति का आदेश निरस्त करते हुए याची की बहाली के निर्देश दिए हैं। मामले की सुनवाई न्यायमूर्ति शरद शर्मा की एकलपीठ ने की। ऊधमसिंह नगर निवासी कामुली मंडल ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर डीईओ के 14 जुलाई 2020 के आदेश को चुनौती दी थी। इसमें डीईओ ने याचिकाकर्ता की सेवा समाप्त करने का आदेश पारित किया था। याचिका में कहा गया है कि याची की नियुक्ति प्राथमिक विद्यालय फूलसुंगा रुद्रपुर में 1 सितंबर 1996 को बतौर सहायक अध्यापक हुई थी। 11 मार्च 2008 को उन्हें पदोन्नति देकर प्रधानाध्यापक बनाया गया।आरोप है कि जिला शिक्षा अधिकारी ने उनकी पदोन्नति इस आधार पर निरस्त कर दी कि याचिकाकर्ता का जाति प्रमाण पत्र अनुसूचति जाति का है, जो केवल छात्रवृत्ति के लिए अनुमन्य है। याचिकाकर्ता की ओर से इस आदेश को चुनौती देते हुए कहा गया कि याचिकाकर्ता की पदोन्नति के निरस्तीकरण में सरकारी कर्मचारी सेवा आचरण नियमावली के प्रावधानों का अनुपालन नहीं किया गया है। दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट की एकलपीठ ने जिला शिक्षा अधिकारी की ओर से 14 जुलाई 2020 को जारी आदेश निरस्त कर दिया। हाईकोर्ट ने याची को सेवा में बहाल करने के निर्देश भी दिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:USNagar DEO order revoked Principal reinstated instructions