DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  हल्द्वानी  ›  कुमाऊं में ब्लैक फंगस के मरीजों के मिलने की रफ्तार हुई कम
हल्द्वानी

कुमाऊं में ब्लैक फंगस के मरीजों के मिलने की रफ्तार हुई कम

हिन्दुस्तान टीम,हल्द्वानीPublished By: Newswrap
Mon, 14 Jun 2021 06:00 PM
कुमाऊं में ब्लैक फंगस के मरीजों के मिलने की रफ्तार हुई कम

कुमाऊं में ब्लैक फंगस के मरीजों के मिलने की रफ्तार कम हुई है। पिछले छह दिनों में ब्लैक फंगस के मरीजों की लिस्ट में सिर्फ एक नाम बढ़ा है। हालांकि एसटीएच में डॉक्टरों की टीम ब्लैक फंगस को लेकर अलर्ट पर है।

कुमाऊं में एसटीएच में ब्लैक फंगस के मरीज मई के तीसरे हफ्ते से आने शुरू हुए थे। इसके बाद औसतन रोज एक मरीज एसटीएच में भर्ती हो रहा था। इसमें से ज्यादातर मरीज यूएस नगर से आ रहे थे। इधर, जून के दूसरे हफ्ते के बाद ब्लैक फंगस के मरीजों के मिलने की रफ्तार भी धीमी हो गई है। पिछले तीन दिन से एक भी मरीज सामने नहीं आया है। जबकि 8 जून को ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या 28 थी, जो 13 जून तक 29 ही रही। ब्लैक फंगस मरीजों के मिलने की रफ्तार कम होने से एसटीएच प्रशासन ने राहत की सांस ली है। हालांकि एसटीएच प्रशासन ने मेडिसन विभाग के एचओडी डॉ. एसआर सक्सेना के नेतृत्व में पांच लोगों की टीम का गठन किया है। ब्लैक फंगस के मरीजों के लिए 10-10 बेड के दो वार्ड बनाए गए हैं। एक वार्ड में ब्लैक फंगस के वो मरीज जिनको कोविड है और दूसरे वार्ड में ब्लैक फंगस के वो मरीज हैं, जिनको कोविड नहीं है उन्हें भर्ती किया जा रहा है।

एसटीएच में वर्तमान में ब्लैक फंगस के 15 मरीज

कुमाऊं में ब्लैक फंगस से निपटने के लिए निर्धारित एकमात्र सरकारी अस्पताल एसटीएच में सोमवार को 15 मरीज भर्ती थे। अभी तक अस्पताल से 9 मरीज जिसमें से 2-3 मरीज अन्य अस्पतालों को चले गए, जबकि शेष को डिस्चार्ज किया जा चुका है। जबकि 5 मरीजों की मौत हो चुकी है।

कोट..

एसटीएच में ब्लैक फंगस के मरीजों का आना कम हुआ है। इसके अलावा भर्ती मरीजों की संख्या भी कम हुई है। बावजूद इसके ब्लैक फंगस से निपटने के लिए बनायी गई टीम सभी भर्ती मरीजों पर नजर रख रही है।

-डॉ. अरुण जोशी, एमएस, एसटीएच

संबंधित खबरें