DA Image
15 अगस्त, 2020|4:38|IST

अगली स्टोरी

उपनल कर्मियों ने काला फीता बांधकर काम किया

उपनल कर्मियों ने काला फीता बांधकर काम किया

उत्तराखंड उपनल संविदा कर्मचारी संघ के आह्वान पर उपनल से संविदा में कार्यरत 18 हजार कर्मचारियों ने गुरुवार को भी विरोध प्रदर्शन जारी रखा। विभिन्न मांगों को लेकर कर्मचारियों ने चौथे दिन भी काले फीते बांधकर विभागों में काम किया। कर्मचारियों ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वे उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे।

संगठन के प्रदेश महामंत्री मनोज जोशी ने कहा कि जब वर्ष 2016 में उपनल कर्मचारियों ने अपनी मांगों के लिए जनपदों से लेकर राज्य में आंदोलन किया था, तब भाजपा जोकि उस समय विपक्ष में थी उसके दर्जनों विधायकों ने उपनल कर्मचारियों को यह कहकर समर्थन किया था कि जब हम सत्ता में आयेंगे तो उपनल कर्मचारियों को समान कार्य का समान वेतन दिया जाएगा। सुरक्षित भविष्य के लिए नियमावली बनाएंगे, लेकिन कथनी और करनी में फर्क देखिए जो विधायक उस समय उपनल कर्मचारियों के समर्थन में आये थे, आज वे सब मौन हैं। उनको आज उपनल कर्मचारियों का दर्द दिखाई नहीं दे रहा है। विरोध प्रदर्शन में प्रदेश अध्यक्ष रमेश शर्मा, मनीष वर्मा, निशा, कमल गढ़िया, राकेश उपाध्याय, त्रिभुवन बसेरा, विमल धामी, मनोज शर्मा, प्रमोद गोसाई, आंचल वर्मा, मनोज कुमार, ललित उपाध्याय, शैलेंद्र रावत, अजीत डोभाल, सुनील ओसवाल, हरीश नेगी, संदीप भोटिया आदि शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Subaltern workers worked with black lace