DA Image
22 सितम्बर, 2020|10:10|IST

अगली स्टोरी

भाजपा में विद्रोह, अब नया जनादेश प्राप्त करे सरकार: इंदिरा

भाजपा में विद्रोह, अब नया जनादेश प्राप्त करे सरकार: इंदिरा

भारतीय जनता पार्टी में विधायकों के विद्रोह की सुगबुगाहट को लेकर नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने प्रदेश सरकार पर कड़ा प्रहार किया है। मंगलवार को जारी एक बयान में इंदिरा ने कहा कि भाजपा में उपजा विद्रोह बताता है कि पार्टी और सरकार के भीतर सबकुछ ठीक नहीं है। सरकार के भीतर पैदा असंतोष जनता के बीच भारी निराशा पैदा कर रहा है, इसलिए इस संकट काल में सरकार को नया जनादेश प्राप्त करना चाहिए।नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने कहा कि प्रदेश में जन समस्याओं का समाधान नहीं हो रहा है। राज्य के अफसरों के बीच भाजपा नेताओं की ही सुनवाई नहीं हो रही है। नौकरशाही निरंकुश हो चुकी है और उसे सरकार का कोई डर नहीं है। ऐसी परिस्थितियों में 2022 के चुनाव को लेकर निर्वाचित प्रतिनिधियों ने केन्द्रीय नेतृत्व से हस्तक्षेप कर नेतृत्व परिवर्तन की मांग की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में विकास कार्य ठप हैं। बेरोजगारी और कर्मचारियों की भारी छंटनी से लोग भुखमरी के कगार पर है। प्रतिमाह एक दिन का वेतन काटने से हर सरकारी कर्मचारी बेहद नाराज है। डॉक्टर्स एसोसिएशन ने भी आन्दोलन की धमकी दी है। उन्होंने मांग उठाई कि संकटकाल में हर मोर्चे पर विफल भाजपा सरकार शीघ्र नया जनादेश प्राप्त करे। भारी बहुमत के बावजूद भाजपा, सरकार चलाने में विफल साबित हुई। तीन मंत्रियों के रिक्त पदों पर अभी तक नियुक्ति नहीं हो पायी है।

विधानसभा सत्र वर्चुअल नहीं, आमने-सामने बैठकर होगा

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि विधानसभा सत्र वर्चुअल कराने की बात चल रही है। मगर कांग्रेस की मांग है कि सत्र वर्चुअल न होकर आमने-सामने बैठकर होगा। वह विधानसभा अध्यक्ष से बात करेंगी। सरकार अनलॉक में स्कूल तक खोलने जा रही है, तो सदन भी चल सकता है। अपनी विफलताओं के डर के कारण सरकार ने वर्चुअल का शिगूफा छेड़ा है। नेताओं को संसदीय भाषा बोलनी चाहिए कृषि मंत्री सुबोध उनियाल की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर की गई टिप्पणी को नेता प्रतिपक्ष ने गलत और असंसदीय करार दिया। उन्होंने कहा कि एक मंत्री के शब्द और भाषा संयमित और संसदीय होनी चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rebellion in BJP government should get new mandate now Indira