Patients going to private due to lack of hormonal examination rates - हार्मोन जांच के रेट तय न होने से प्राइवेट में जा रहे मरीज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हार्मोन जांच के रेट तय न होने से प्राइवेट में जा रहे मरीज

बेस अस्पताल में हार्मोनल टेस्ट के लिए नयी मशीन लगाई गई है, लेकिन टेस्ट के दाम तय न होने से इसका फायदा मरीजों को नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में मशीन इंस्टालेशन का काम पूरा होने के बावजूद यह बेकार पड़ी है।

बेस अस्पताल में पहली बार हार्मेनल जांच की मशीन खरीदी गई। इससे मरीजों को थायरॉयड सहित कई तरह की दूसरी रक्त जांच सुविधा मिलती। मशीन आने के करीब एक महीने तक तो यह डिब्बे में बंद रही। इसके बाद मशीन इंस्टॉल की गई, लेकिन मशीन इंस्टॉल होने के बाद भी इसका लाभ मरीजों को नहीं मिल रहा है। दरअसल अब रक्त जांच के दाम तय नहीं हो पाए हैं। इस कारण मशीन इंस्टॉल होने के बावजूद शोपीस बनी है। बेस अस्पताल के पीएमएस डॉ. हरीश लाल ने बताया कि मशीन इंस्टॉल हो गई है। जांच के रेट नहीं मिल रहे हैं। कोशिश है कि निदेशालय से जल्द रेट तय करवा लिए जाएं, ताकि मरीजों को इसका फायदा मिल सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Patients going to private due to lack of hormonal examination rates