DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्लोबल वार्मिंग ने रोकी जाड़ों में बर्फबारी और बारिश की राह

वैश्विक स्तर पर तापमान वृद्धि का असर जाड़ों की बारिश और बर्फबारी में अब साफ दिखने लगा है। सर्दियों में हिमपात के लिए पहचान रखने वाली सरोवर नगरी में बर्फबारी के साथ बारिश शून्य के स्तर पर आने लगी है। इससे साथ ही बारिश चक्र भी प्रभावित हो रहा है। 
आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान एवं शोध संस्थान (ऐरीज) के वायुमंडल वैज्ञानिकों के अनुसार ग्लोबल वार्मिंग सर्दियों के मौसम चक्र पर असर डाल रहा है। दरअसल सर्दियों में बर्फबारी के लिए पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता महत्वपूर्ण है। भूमध्य सागर से उठने वाले इस चक्रवाती प्रवाह के साथ ही निचले वायुमंडल की गतिकी भी सर्दियों की बारिश-बर्फबारी के लिए खासी मददगार साबित होती है। लेकिन कुछ सालों से पश्चिमी विक्षोभ  के बावजूद बर्फबारी और बारिश प्रभावित हो रही है। विशेषज्ञों के अनुसार ग्लोबल वार्मिंग निचले वायुमंडल की गतिकी को प्रभावित कर रहा है। पश्चिमी और उत्तरी भारत में कम बारिश और बर्फबारी के तौर पर इसका असर दिख रहा है।

क्या है वायुमंडल का निचला स्तर 
ऐरीज के मौसम वैज्ञानिक डॉ. नरेंद्र सिंह के अनुसार ग्लोबल वार्मिंग से अब तक वायुमंडल का निचला स्तर (जमीन से 5 से 7 किलोमीटर ऊपर) प्रभावित नहीं था। पिछले आठ दस सालों में ग्लोबल वार्मिंग ने निचले वायुमंडल की गैसों ऑक्सीजन, कार्बन डाई आक्साइड और नाइट्रोजन को प्रभावित करना शुरू कर दिया है। इन गैसों के डिस्टर्ब होने से मौसम चक्र प्रभावित हो रहा है। इसी के चलते पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के बावजूद यहां बारिश-बर्फबारी नहीं हो पा रही है।   

सर्दियों में बारिश में गिरावट
वर्ष                    मिमी
2013-14           105 मिमी
2014-15           121.5 मिमी
2015                162 मिमी
2016                171.5 मिमी
2017                181 मिमी
2018-19            शून्य 

बर्फबारी का गिरता आंकड़ा 
वर्ष                  तिथि                हिमपात
2013              31 जनवरी        1.5 फीट
2014              6-7 जनवरी       7 सेमी
2015               —                   शून्य
2016               —                    शून्य
2017               7-8 जनवरी       5 सेमी
2018               24 जनवरी        3 सेमी 
2019               अब तक             शून्य 
(नोट- उक्त आंकड़े जिला मौसम विज्ञान केंद्र से लिए गए हैं)


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nainital global warming snowfall and rain in the winter affecting the rain cycle Aries weather scientist Dr Narendra Singh