DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लकी कमांडो बना बॉलीवुड फिल्म प्रोड्यूसर

लकी कमांडो बना बॉलीवुड फिल्म प्रोड्यूसर

सात साल पहले भवाली से सटे श्यामखेत में हुए चर्चित दोहरे हत्याकांड में मुख्य आरोपी के रूप में सामने आये चर्चित लक्ष्मण सिंह बिष्ट उर्फ लकी कमांडो ने अब बॉलीवुड का रुख कर लिया है। ‘लकी कमांडो फिल्म नाम से प्रोडक्शन हाउस शुरू करने के बाद लकी ने न सिर्फ इंडियन मोशन पिक्चर प्रोड्यूसर एसोसिएशन (इंपा) की सदस्यता ले ली है, बल्कि हाल में पहला म्यूजिक एलबम भी लांच कर दिया है।

लकी ने बताया कि बतौर प्रोड्यूसर हाल ही में पहला म्यूजिक एलबम ‘अहसास रेड रिबन म्यूजिक कंपनी की मदद से रिलीज किया है। इसमें मुख्य कलाकारों की भूमिका में संदीप भारद्वाज, मनीष उप्पल और अभिषेक पांडे तथा अल्मोड़ा की संजना भट्ट हैं। लकी के अनुसार वह अब ‘नियति चक्र नाम से पिक्चर बना रहे हैं। इसकी अधिकतर शूटिंग पूरी हो चुकी है और जल्द इसे रिलीज कर लिया जाएगा। इसके अलावा अलविदा माई रेस्टोरेंट, दानव और दरियादिल लौंडे गनवाले फिल्मों की शूटिंग शुरू होने वाली है। इन फिल्मों के कुछ दृश्य उत्तराखंड में फिल्माये जाएंगे, जिसमें स्थानीय युवाओं को अहम भूमिकाएं देने की तैयारी है।

सितंबर में एक्टिंग वर्कशॉप भी

लकी ने बताया सितंबर में हल्द्वानी में खास एक्टिंग वर्कशॉप आयोजित होगी। इसके लिए नि:शुल्क ऑडीशन होंगे। कि 20 युवाओं को 15 दिनों तक एफटीआईआई और एनएसडी के प्रशिक्षक फिल्म निर्माण, अभिनय, निर्देशन के गुर सिखायेंगे।

कौन है लकी कमांडो

लक्ष्मण सिंह बिष्ट उर्फ लकी कमांडो मूलत: गंगोलीहाट निवासी है। लकी के पिता प्रेम सिंह बिष्ट ने फौज से रिटायर होने के बाद हल्द्वानी के कठघरिया में घर बना लिया। हाईस्कूल पास होते ही लकी 2003 में सेना में भर्ती हो गए, जहां से वह पैरा स्पेशल फोर्स बंगलौर पहुंचे। 2005 में लकी का चयन एनएसजी में हो गया। बेलगाम में कमांडो ट्रेनिंग के बाद वह 2009 तक कई अभियानों में शामिल रहे। तत्कालीन गुजरात सीएम नरेन्द्र मोदी, पंजाब सीएम प्रकाश सिंह बादल, लालकृष्ण आडवाणी, राजनाथ सिंह, तरुण गोगोई, प्रफुल कुमार मोहंतो आदि नेताओं की सुरक्षा टीम में वह शामिल रहे।

इस मामले में दोषमुक्त

लकी एक सितंबर 2011 को छुट्टी पर घर आए थे। भवाली से सटे श्यामखेत में रामगढ़-मुक्तेश्वर रोड पर छह सितंबर 2011 को एक कार में दो लाशें बरामद हुई थीं। ये शव पनियाली लोहरियासाल हल्द्वानी निवासी हिस्ट्रीशीटर राजेन्द्र बिष्ट उर्फ राजू परगाईं और राजपुरा हल्द्वानी निवासी अमित आर्या के थे। पुलिस ने छह सितंबर को ही मुख्य आरोपी मानते हुए लकी को गिरफ्तार कर लिया था। चार साल तक जेल में रहे कमांडो को 2015 में जमानत मिली थी। इसी साल मार्च में एडीजे कोर्ट ने साक्ष्यों के अभाव में लकी को दोषमुक्त कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lucky Commando Made Bollywood Film Producer