DA Image
27 अक्तूबर, 2020|12:45|IST

अगली स्टोरी

उत्तराखंड में तीन माह में 32 हजार युवाओं को देंगे रोजगार: त्रिवेन्द्र

default image

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि इंडोनेशिया की तरह उत्तराखंड के युवाओं को पिरूल के जरिए रोजगार मुहैया कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य के जंगलों में मौजूद पिरूल से 40 हजार युवाओं को रोजगार दिया जा सकता है। इस क्रम में राज्य में 25 किलोवाट के पहले पिरूल बिजली प्रोजेक्ट की शुरुआत कर दी गई है। इससे युवाओं को रोजगार के नए अवसर मुहैया होंगे।हल्द्वानी तहसील में 120 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास-लोकार्पण करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि इंडोनेशिया पिरूल से 127 तरह के उत्पाद पैदा कर रहा है। कोरोना के चलते यहां के अधिकारियों की टीम इंडोनेशिया नहीं जा पाई। जल्द ही स्थिति सुधरने पर पिरूल से रोजगार के दूसरे अवसरों को भी तलाशा जाएगा। वेस्ट में बेस्ट ढूंढने के प्रयास के इस क्रम में हमने राज्य में पहले पिरूल पावर प्रोजेक्ट की शुरुआत कर दी है। इसे आगे और बढ़ावा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड सरकार युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के क्षेत्र में प्राथमिकता से कार्य कर रही है। तीन माह के भीतर राज्य में 32 हजार युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य रखा गया है। इसके तहत 10 हजार युवाओं को 25-25 मेगावाट के सोलर पावर प्रोजेक्ट के माध्यम से रोजगार से जोड़ा जाएगा। 10 हजार युवाओं को मोटर बाइक मुहैया कराकर पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार दिया जाएगा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के नेतृत्व में प्रदेश सरकार हर क्षेत्र में विकास योजनाएं पहुंचा रही है। राज्य में जल्द ही एयर एंबुलेंस सेवा शुरू होने जा रही है। 108 सेवा का और अधिक विस्तार करने की योजना है।सीएम सहायता नंबर से 30 हजार समस्याओं का समाधानहल्द्वानी। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बताया कि सीएम सहायता नंबर 1905 की मदद से राज्य में 30 हजार लोगों की समस्याओं का समाधान किया गया है। इस नंबर में शिकायत कर लोग मुख्यमंत्री तक सीधे अपनी समस्याएं पहुंचा रहे हैं। इसके तत्काल निस्तारण के लिए जिलास्तर पर संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किए जाते हैं। काफी संख्या में लोग इस सेवा का फायदा उठा रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:In Uttarakhand 32 thousand youths will be given jobs in three months Trivendra