DA Image
21 जनवरी, 2020|8:14|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कमलुवागांजा में हाट बाजार बंद कराया, सामान जब्त किया

default image

नगर निगम प्रबंधन ने शुक्रवार को तीनमूर्ति कमलुवागांजा में बिना अनुमति के लगने वाले हाट बाजार के खिलाफ कार्रवाई की। प्रभारी सहायक नगर आयुक्त विजेंद्र चौहान की अगुवाई में जिला प्रशासन और पुलिस टीम ने संयुक्त टीम बनाकर मौके पर पहुंचे और हाट बाजार लगाने वाले ठेकेदार को बाजार न लगाने की चेतावनी दी। वहीं कई बार मनाही के बावजूद फड़ लगाने पहुंचे कुछ दुकानदारों का सामान भी जब्त किया गया।

बाजार लगाने वाले लोगों ने कार्रवाई का विरोध करने के साथ हंगामा करने का भी प्रयास किया। कुछ लोग हाट बाजार पर प्रतिबंध लगाने को लेकर अधिकारियों से बहस करने लगे, लेकिन मौके पर तैनात अफसरों ने उन्हें दो टूक कहा बेवजह सरकारी कार्रवाई में बाधा डालने का प्रयास किया तो इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। प्रभारी सहायक नगर आयुक्त विजेंद्र चौहान ने खुद को हाट बाजार का ठेकेदार बताने वाले लोगों को समझाते हुए कहा पहले निगम के खाते में सालाना शुल्क जमा करें। नहीं तो निगम कानूनी कार्रवाई करेगा। टीम ने इस दौरान कुछ दुकानदारों से सब्जी, तिरपाल व खाली पिंजरे आदि जब्त कर लिए। कार्रवाई करने पहुंची टीम में मुखानी थाना प्रभारी बीएस मेहर, नायब तहसीलदार हल्द्वानी महेंद्र कुमार जोशी,टैक्स इंस्पेक्टर पूजा,हरीश सागर समेत करीब पंद्रह से बीस अधिकारी कर्मचारी शामिल थे।

किसकी जेब में जाता रहा हाट बाजार का पैसा

कमलुवागांजा में हाट बाजार लगाने वाले लोगों का तर्क है कि अन्य बाजारों की तरह निगम उन्हें भी बाजार लगाने की नियमानुसार अनुमति दे और अपना सालाना शुल्क तय करे, लेकिन निगम नई नियमावली के तहत शुल्क तय करने पर विचार कर रहा है। ऐसे में लोगों ने कहा निगम अपनी नियमावली लागू करने में देर क्यों कर रहा है। सवाल यह भी उठता है कि पूर्व में जिला पंचायत क्षेत्र रहने के दौरान अवैध रूप से लगते रहे हाट बाजारों का पैसा किसकी जेब में जाता रहा। इसकी जांच हुई तो बड़े पदों पर रहे कई सफेदपोश नेता भी नप सकते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hat market closed in Kamaluwaganja goods seized Corporation closed Haat Bazaar in Kamaluwaganja seized goods