DA Image
14 अगस्त, 2020|7:46|IST

अगली स्टोरी

बिंदुखत्ता में गौला नदी से हो रहे भू-कटाव से ग्रामीणों में रोष

बिंदुखत्ता में गौला नदी से हो रहे भू-कटाव से ग्रामीणों में रोष

गौला नदी से बिंदुखत्ता क्षेत्र में हो रहे भू-कटाव से ग्रामीणों में रोष है। ग्रामीण लंबे समय से स्थायी तटबंध बनाने की मांग कर रहे हैं। गुरुवार को भाकपा (माले) का एक प्रतिनिधिमंडल जिला सचिव डॉ. कैलाश पांडेय के नेतृत्व में जिलाधिकारी कैंप कार्यालय हल्द्वानी में अपर जिलाधिकारी कैलाश टोलिया से मिला और उन्हें ज्ञापन सौंपा।

इस दौरान माले नेताओं ने बताया कि पिछले वर्ष भाकपा (माले) द्वारा प्रदर्शन करने के बाद प्रशासन द्वारा बिन्दुखत्ता क्षेत्र में चैनल का निर्माण किया गया था, लेकिन करोडों रुपये खर्च करने के बाद भी चैनल टूट गया और नदी का बहाव फिर से आबादी की ओर हो गया है। इससे कई किसानों की कृषि भूमि कटकर गौला नदी में समा गई है और अस्थायी तटबंध भी टूट गए हैं। माले जिला सचिव डॉ. कैलाश पांडेय ने कहा कि यदि तत्काल कार्यवाही कर चैनल की मरम्मत कर पानी के बहाव को आबादी की ओर से नहीं हटाया गया तो किसानों की बड़ी आबादी को जान माल का खतरा पैदा हो जाएगा। उन्होंने प्रशासन से मामले में ठोस कार्रवाई की मांग की। एडीएम ने मामले में ठोस कार्रवाई का आश्वासन दिया है। इस दौरान पार्टी के राज्य कमेटी सदस्य ललित मटियाली व कमल जोशी मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Fury among villagers due to erosion from the Gaula river in Bindu Khatta