DA Image
26 नवंबर, 2020|9:45|IST

अगली स्टोरी

प्लाज्मा थैरेपी के बाद कोरोना मरीज की सेहत में सुधार

default image

राजकीय मेडिकल कॉलेज के डॉ. सुशीला तिवारी अस्पताल (एसटीएच) में कोरोना मरीजों के लिए प्लाज्मा थैरेपी शुरू हो गई है। बुधवार रात गंभीर स्थिति से जूझ रहे पुलिस कर्मी और एक अन्य मरीज को प्लाज्मा चढ़ाया गया। इसके बाद दोनों ही मरीजों की सेहत में काफी सुधार नजर आ रहा है। सुशीला तिवारी अस्पताल के एचडीयू में पांच दिनों से हाई ऑक्सीजन पर रखे गए पुलिस कर्मी की गुरुवार सुबह ऑक्सीजन की जरूरत कम हो गई। उनकी सांस बेहतर चलने से चलने लगी है। तीन दिन से हाई ब्लड प्रेशर और सांस की तकलीफ झेल रहे एक अन्य मरीज का बीपी भी प्लाज्मा चढ़ाने के बाद सामान्य हुआ है। हालांकि डॉक्टर दोनों ही मरीजों को लेकर अभी कुछ भी साफ तौर पर कहने से बच रहे हैं। पर उनका मानना है कि प्लाज्मा थैरेपी से मरीजों की सेहत में जल्द सुधार दिख सकता है। राजकीय मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. सीपी भैसोड़ा ने बताया कि प्लाज्मा थैरेपी के सभी परिणामों को देखने के बाद अंतिम निर्णय पर पहुंचा जाएगा। हालांकि थैरेपी का शुरू होना काफी सुखद है। हम लोगों से अधिक से अधिक दान की अपील कर रहे हैं।50 लोग चिह्नित, कई और लोग दान के लिए बढ़ेसुशीला तिवारी अस्पताल प्रबंधन ने प्लाज्मा दान करने के लिए 50 लोग चिन्हित किए हैं। हालांकि बुधवार दोपहर तक कोई नया व्यक्ति प्लाज्मा दान के लिए संपर्क नहीं कर पाया था। पर अस्पताल प्रबंधन के पास कई लोगों के फोन इस संबंध में आ रहे हैं। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही प्लाज्मा दान की संख्या बढ़ेगी।प्लाज्मा दान के लिए अस्पताल में संपर्क करेंकोरोना वायरस से स्वस्थ होने के 28 से 90 दिनों के भीतर कोई भी व्यक्ति प्लाज्मा दान कर सकता है। इसके लिए अस्पताल के डॉ. सुशीला तिवारी अस्पताल के मेडिकल सुप्रिटेंडेंट कार्यालय, राजकीय मेडिकल कॉलेज कार्यालय या फिर ब्लड बैंक और अस्पताल के डॉक्टरों से संपर्क किया जा सकता है। रक्तजांच के बाद व्यक्ति आसानी से कुछ ही देर में शरीर का प्लाज्मा दान कर सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona patient 39 s health improves after plasma therapy