DA Image
24 जुलाई, 2020|11:55|IST

अगली स्टोरी

रामनगर बाजार से चाइनीज राखियां गायब

default image

सीमा पर चीन की नापाक हरकत देखते हुए पूरे देश के लोगों में गुस्सा है। इस क्रम में रामनगर के व्यापारियों ने चाइनीज राखी का बहिष्कार कर इसकी बिक्री से इनकार कर दिया है। इसके बाद बाजार में चाइनीज राखियां गायब हैं। रामनगर में शहर और गांव के बाजार की 30 से अधिक दुकानों पर राखियां बिकने लगी हैं। मगर इस बार यहां चाइनीज राखियां नदारद हैं। दुकानदार स्थानीय स्तर पर बनी राखियां बेच रहे हैं। उनका कहना है कि देश हित से बड़ा कुछ नहीं है। बहनें स्वदेशी राखी पसंद कर रहीं रामनगर। राखी विक्रेता शिवांश देवल ने बताया कि चाइनीज राखी से व्यापारियों को अधिक लाभ था। मगर लोग देश में बनी राखी की डिमांड कर रहे हैं। इनकी कीमत पांच सौ से एक हजार तक हैं। न्यूनतम दाम वाली राखियां 10 रुपए की हैं। महंगी होने के बावजूद लोग देसी राखियां मांग रहे हैं। चाइनीज सामान का पूर्ण बहिष्कार है। कोई भी व्यापारी चाइनीज सामान नहीं बेच रहा है। स्वदेशी सामान बेचकर हम देश को आर्थिक मजबूत करेंगे। - मनमोहन अग्रवाल, संरक्षक, देवभूमि व्यापार मंडल।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chinese Rash missing from Ramnagar market