DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चामी गांव भू-कटाव से खतरे में आया, परिवारों ने छोड़े मकान

चामी गांव भू-कटाव से खतरे में आया, परिवारों ने छोड़े मकान

मुनस्यारी के चामी गांव में नदी किनारे हो रहे भू-कटाव से गांव के 70 परिवारों को खतरा पैदा हो गया है। भू-कटाव से चार परिवारों ने अपना मकान छोड़ दिया है। परिवार के लोग किराये पर रहने को मजबूर हैं। खेत-खलिहान भी खतरे की जद में हैं।

क्षेत्र में दो जुलाई की आपदा के बाद चामी गांव में गोरी नदी के उफान से गांव खतरे की जद में आ गया है। लगातार हो रहे भू-कटाव के कारण चार परिवारों ने अपने घर छोड़ दिए हैं। वहीं खेतों में भी बड़ी दरार पड़ गई हैं। रोजगार का अन्य कोई साधन नहीं होने के कारण खतरे के बाद लोग खेतों में काम करने से परहेज नहीं कर रहे हैं। प्रभावित कुंदन राम, कुशी राम, गोविंद राम और हेमंत प्रसाद ने बताया कि आपदा के बाद उन्होंने 6 जुलाई को अपना मकान छोड़ दिया था। दो हफ्ते से वो परिवार के साथ किराये के मकान में रह रहे हैं। प्रशासन ने सिर्फ टेंट रहने को दिया है। अन्य कोई मदद नहीं मिली है। प्रभावितों ने बताया कि क्षेत्र की पटवारी ने निरीक्षण किया था, लेकिन उसके बाद प्रशासन का कोई भी अधिकारी पूछने नहीं आया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chami village comes under threat from land erosion, families leave homes