DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तराखंड मुक्त विवि के दीक्षांत समारोह में 21 टॉपर्स को मिले गोल्ड मेडल

उत्तराखंड मुक्त विवि के दीक्षांत समारोह में 21 टॉपर्स को मिले गोल्ड मेडल

1 / 6उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के तीसरे दीक्षांत समारोह में आठ हजार छात्र-छात्राओं को विवि की डिग्री और डिप्लोमा प्रदान किए गए। इस दौरान विभिन्न संकायों के 21 टॉपरों को गोल्ड मेडल से नवाजा...

उत्तराखंड मुक्त विवि के दीक्षांत समारोह में 21 टॉपर्स को मिले गोल्ड मेडल

2 / 6उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के तीसरे दीक्षांत समारोह में आठ हजार छात्र-छात्राओं को विवि की डिग्री और डिप्लोमा प्रदान किए गए। इस दौरान विभिन्न संकायों के 21 टॉपरों को गोल्ड मेडल से नवाजा...

उत्तराखंड मुक्त विवि के दीक्षांत समारोह में 21 टॉपर्स को मिले गोल्ड मेडल

3 / 6उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के तीसरे दीक्षांत समारोह में आठ हजार छात्र-छात्राओं को विवि की डिग्री और डिप्लोमा प्रदान किए गए। इस दौरान विभिन्न संकायों के 21 टॉपरों को गोल्ड मेडल से नवाजा...

उत्तराखंड मुक्त विवि के दीक्षांत समारोह में 21 टॉपर्स को मिले गोल्ड मेडल

4 / 6उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के तीसरे दीक्षांत समारोह में आठ हजार छात्र-छात्राओं को विवि की डिग्री और डिप्लोमा प्रदान किए गए। इस दौरान विभिन्न संकायों के 21 टॉपरों को गोल्ड मेडल से नवाजा...

उत्तराखंड मुक्त विवि के दीक्षांत समारोह में 21 टॉपर्स को मिले गोल्ड मेडल

5 / 6उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के तीसरे दीक्षांत समारोह में आठ हजार छात्र-छात्राओं को विवि की डिग्री और डिप्लोमा प्रदान किए गए। इस दौरान विभिन्न संकायों के 21 टॉपरों को गोल्ड मेडल से नवाजा...

उत्तराखंड मुक्त विवि के दीक्षांत समारोह में 21 टॉपर्स को मिले गोल्ड मेडल

6 / 6उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के तीसरे दीक्षांत समारोह में आठ हजार छात्र-छात्राओं को विवि की डिग्री और डिप्लोमा प्रदान किए गए। इस दौरान विभिन्न संकायों के 21 टॉपरों को गोल्ड मेडल से नवाजा...

PreviousNext

राष्ट्रनिर्माण हो विवि का लक्ष्य: कुलाधिपति

समारोह को संबोधित करते हुए विवि के कुलाधिपति और प्रदेश के राज्यपाल डॉ. केके पॉल ने कहा कि विश्वविद्यालयों का लक्ष्य राष्ट्रनिर्माण और समाज को लाभ पहुंचाना होना चाहिए। उन्होंने कहा कि संस्कृति के संरक्षण के साथ ही प्रतिभावान युवाओं का कौशल विकास आवश्यक है। कुलाधिपति ने कौशल विकास के लिए रोजगारपरक शिक्षा पर ध्यान देने की जरूरत जताई। डॉ. पॉल ने कहा कि शिक्षा हर मनुष्य के जीवन में अंतहीन यात्रा के समान है। शिक्षा का अर्थ महज डिग्री हासिल करना नहीं, बल्कि कौशल को विकसित कर आत्मनिर्भर बनना होना चाहिए।

बढ़ गई है मुक्त विवि की जिम्मेदारी: रावत

समारोह के विशिष्ट अतिथि उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय कम समय में ही उत्तराखंड के दूरस्थ क्षेत्रों तक पहचान बना चुका है। प्रदेश में उच्च शिक्षा में प्राइवेट परीक्षा की व्यवस्था समाप्त होने के बाद अब दूरस्थ-दुर्गम अंचलों के युवा मुक्त विवि की ओर बढ़ रहे हैं। इसके अलावा यूओयू उन नौकरीपेशा लोगों के लिए भी शिक्षा का बड़ा माध्यम बनकर उभरा है, जो रोजगार के साथ अपनी शिक्षा के स्तर में बढ़ावा करना चाहते हैं। डॉ. रावत ने कहा कि इन सबके चलते उत्तराखंड मुक्त विवि की जिम्मेदारी और बढ़ गई है।

40 हजार हुई छात्रों की संख्या: कुलपति

यूओयू के कुलपति प्रो. नागेश्वर राव ने समारोह में विवि की उपलब्धियां गिनाईं। कुलपति ने बताया कि वर्ष 2005 में विवि की स्थापना प्रदेश में दूरस्थ शिक्षा को बढ़ावा देने के मकसद से हुई थी। 12 साल बाद विवि इस उद्देश्य को प्राप्त करने में सफल रहा है। कुलपति प्रो. राव ने कहा कि इस अवधि में हल्द्वानी में मुख्यालय के साथ विवि के आठ क्षेत्रीय कार्यालय प्रदेशभर में स्थापित हो चुके हैं, जिनसे 238 अध्ययन केंद्र संबद्ध हैं। विवि की 13 विद्याशाखाओं के अंतर्गत 70 से अधिक पाठ्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि विवि की छात्रसंख्या 40 हजार हो चुकी है और इसमें निरंतर बढ़ोतरी हो रही है।

पदक पाने वाले छात्रों की सूची

कुलाधिपति स्वर्ण पदक

-दृष्टि बौड़ाई, बीए

-उत्तम प्रसाद सेमवाल, एमएससी वनस्पति विज्ञान

स्नातक स्तर पर स्वर्ण पदक

-दृष्टि बौड़ाई, बीए

-मिताली मधुस्मिता साहू, बीकॉम

-ललिता गड़िया, बीएचएम

-पूजा शर्मा, बीवाईएन

स्नातकोत्तर स्तर में स्वर्ण पदक

-कुमारी आरती, एमए अंग्रेजी

-जगत सिंह, एमए हिन्दी

-मुकेश कुमार, एमए संस्कृत

-अजीत कुमार सैनी, एमए शिक्षाशास्त्र

-डिंपल गुप्ता, एमए इतिहास

-दीपक रौतेला, एम राजनीति विज्ञान

-ममता कठायत, एमएसडब्ल्यू

-हिमांशु बहुगुणा, एमए समाजशास्त्र

-मनवीर सिंह, एमए अर्थशास्त्र

-प्रियंका बलोधी, एमबीए

-मनीषा पांडे, एमकॉम

-रमिता महर्जन, एमए योग

-उत्तम प्रसाद सेमवाल, एमएससी वनस्पति विज्ञान

-अनुराधा जोशी, एमएससी रसायन विज्ञान

-भारत भूषण, एमएससी भौतिकी

तीन विद्यार्थियों को ‘स्मृति स्वर्ण पदक

समारोह में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले तीन विद्यार्थियों को स्मृति स्वर्ण पदक से भी सम्मानित किया गया। यह पदक गोल्डी मसाला कारोबारी प्रमोद कुमार गोल्डी की ओर से अपने पूर्वजों की स्मृति में दिए गए। बीए में दृष्टि बौड़ाई, एमए में कुमारी आरती और एमकॉम में मनीषा पांडे को इस पदक से सम्मानित किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:21 toppers achieved gold medal in UOU convocation