DA Image
10 अप्रैल, 2020|10:48|IST

अगली स्टोरी

मिसाल : डीएम की पत्नी से नहीं देखा गया छात्राओं का दुख, पढ़ाने पहुंचीं स्कूल

डीएम मंगेश घिल्डियाल के साथ उनकी पत्नी ने भी संभाला मोर्चा
डीएम मंगेश घिल्डियाल के साथ उनकी पत्नी ने भी संभाला मोर्चा

अपने काम को लेकर सुर्खियों में रहने वाले डीएम मंगेश घिल्डियाल के साथ अब उनकी पत्नी ने भी सहयोग का हाथ बढ़ाया है। एक ओर रुद्रप्रयाग के स्कूलों का निरीक्षण कर उनकी स्थिति सुधारने के लिए रुद्रप्रयाग के डीएम अभिनव पहल कर रहे हैं, वहीं उनकी पत्नी ऊषा घिल्डियाल भी एक स्वयंसेवी शिक्षक के रूप में इस मुहिम में जुड़ गई हैं। हाल ही में डीएम घिल्डियाल ने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज रुद्रप्रयाग का निरीक्षण किया था। यहां स्कूल में शिक्षिकाओं की कमी और छात्राओं के दुख को देखते हुए काफी आहत हुए। घर आते ही उन्होंने अपनी पत्नी से इस बात पर चर्चा की। उनकी पत्नी ने उनका आग्रह स्वीकार किया।

स्कूलों का निरीक्षण कर खुद भी बच्चों को पढ़ा रहे डीएम
स्कूलों का निरीक्षण कर खुद भी बच्चों को पढ़ा रहे डीएम

रुद्रप्रयाग के डीएम मंगेश घिल्डियाल ने जिले में कार्यभार संभालते ही शिक्षा की बेहतरी के प्रयास शुरू कर दिए थे। वह समय-समय पर स्कूलों का निरीक्षण कर रहे हैं। बच्चों की स्थिति जानने के लिए उनसे सवाल जबाव भी कर रहे हैं। इसके अलावा वह बच्चों को पढ़ा भी रहे हैं। डीएम की पहाड़ के प्रति पीड़ा को देखते हुए उनकी पत्नी भी उनका साथ दे रही हैं। पहाड़ से पलायन रुके और यहां के छात्र-छात्राओं को अच्छी शिक्षा मिले इसके लिए वह पूरा प्रयास कर रहे हैं। 

कक्षा नौ और 10 की छात्राओं को रोजाना दो घंटे पढ़ा रहीं
कक्षा नौ और 10 की छात्राओं को रोजाना दो घंटे पढ़ा रहीं

डीएम की पत्नी उषा घिल्डियाल ने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में विज्ञान पढ़ाना शुरू कर दिया है। बिना किसी स्वार्थ और पैसे के निशुल्क रूप से उषा घिल्डियाल कक्षा 9 और 10वीं की छात्राओं को विज्ञान पढ़ा रही हैं। वह प्रतिदिन दो से ढाई घंटे स्कूल में बच्चों की पढ़ाई को दे रही हैं। सुबह साढ़े 8 बजे स्कूल पहुंच रही हैं, जबकि साढ़े 11 साढ़े बजे तक स्कूल में ही रहती हैं।

पंतनगर कृषि यूनिवर्सिटी में साइंटिस्ट रही हैं ऊषा घिल्डियाल
पंतनगर कृषि यूनिवर्सिटी में साइंटिस्ट रही हैं ऊषा घिल्डियाल

उषा घिल्डियाल पंतनगर कृषि विश्वविद्यालय में साइंटिस्ट रह चुकी हैं। इन दिनों वह विवि में नहीं हैं और खाली समय पर बच्चों के भविष्य को सवांरने में जुटी हैं। इधर, डीएम मंगेश घिल्डयाल भी कई बार स्कूलों में निरीक्षण के दौरान बच्चों को पढ़ाने से अपने को नहीं रोक पाते हैं। डीएम और उनकी पत्नी की इस पहल की रुद्रप्रयाग सहित अन्य स्थानों पर भी खूब सराहना हो रही है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Wife of DM Mangesh Ghildiyal is teaching children in Rudraprayag school