DA Image
15 अगस्त, 2020|10:24|IST

अगली स्टोरी

केन्द्रीय संस्थानों के खुलने पर स्थिति साफ नहीं

default image

देहरादून के ऑरेंज जोन में आने के बाद तीन मई को लॉकडाउन की क्या स्थिति रहेगी। इस पर अभी असमंजस बना हुआ है। खासकर तीन मई के बाद केन्द्रीय संस्थान 33 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति के पूर्व के आदेश के अनुसार खुलेंगे या नहीं इसे लेकर केन्द्रीय संस्थानों को अपने अपने मुख्यालयों से गाइडलाइन का इंतजार है। वंसत विहार स्थित केन्द्रीय जल आयोग में काम काज की स्थिति साफ नहीं हुई है। ईई सुधीर कुमार के अनुसार तीन मई को ही स्थिति पर कुछ कहा जा सकता है। सर्वे ऑफ इंडिया में भी कार्यालय खुलने को लेकर कोई नया आदेश नहीं आया है। सर्वे चौक और हाथीबड़कला स्थित मुख्यालय में कर्मचारी आंतरिक आदेश का इंतजार कर रहे हैं। आईआईपी में जरूरी लैब जरूर संचालित हो रही हैं मगर प्रशासनिक कामकाज बंद ही है। पब्लिक इंगेजमेंट प्रमुख डीसी पांडे ने बताया कि अभी कार्यालय संचालन को लेकर कोई आदेश नहीं है। अधिकारी मंत्रालय से सम्पर्क में हैं। वाडिया इंस्टीट्यूट में सिर्फ अनुसंधान से जुड़े कार्यों के लिए ही चुनिंदा वैज्ञानिक कार्यालय आ रहे हैं। वाडिया में भी कार्यालय खुलने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हुई है। एक अधिकारी के अनुसार केन्द्र से पूर्व में जारी आदेश अभी भी लागू हैं। उस समय दून चूंकि रेड जोन में था इसलिए कार्यालय खोलने और न खोलने को लेकर स्थानीय जिला प्रशासन का रूख ही महत्वपूर्ण होगा। यदि कार्यालय खोलने को लेकर जिला प्रशासन की हरी झंडी मिलेगी तो विभागीय कामकाज शुरू करने के लिए डे पास की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The situation is not clear on the opening of central institutions