DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षा: तबादले निरस्त करने के खिलाफ आज से शिक्षकों का धरना-प्रदर्शन

कांग्रेस सरकार के सशर्त तबादलों के निरस्त होने से नाराज शिक्षकों ने मोर्चा खोल दिया। सोमवार को शिक्षकों नए मंच का गठन करते हुए आंदोलन का ऐलान किया। मंगलवार से ये शिक्षक शिक्षा निदेशालय में धरना-प्रदर्शन शुरू करने जा रहे हैं।

मंच के अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह कंडारी और महामंत्री भूपेंद्र सिंह के नेतृत्व में तबादले निरस्त होने से प्रभावित शिक्षकों ने शिक्षा निदेशक आरके कुंवर से मुलाकात की। शिक्षकों ने कहा कि नवंबर 2016 में जितने भी तबादले हुए थे, उनमें ज्यादातर जरूरतमंद शिक्षक हैं। कई शिक्षक कैंसर जैसी बीमारी के शिकार भी हैं।

तत्कालीन सरकार ने तीन से पांच साल के लिए तबादले किए थे, पर अब सरकार ने डेढ़ साल के भीतर ही सभी तबादलों को निरस्त कर दिया है। यह नाइंसाफी है।शिक्षा निदेशक ने शिक्षकों को बामुश्किल शांत किया। उन्होंने आश्वासन दिया कि उनकी बात को प्रभावी ढंग से शासन के के समक्ष रखा जाएगा।

दूसरी तरफ, कांग्रेस सरकार में हुए तबादलों में बेसिक और जूनियर शिक्षकों के तबादले तो सरकार ने रोक दिए। लेकिन शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के निर्देश के बावजूद उस दौरान हुए माध्यमिक शिक्षकों के तबादलों को अब तक नहीं छेड़ा गया। मालूम को शिक्षा सचिव ने 25 अप्रैल को करीब 400 बेसिक और जूनियर शिक्षकों के तबादले रद़्द कर दिए थे। इसके बाद 25 अप्रैल को शिक्षा मंत्री ने करीब 133 माध्यमिक शिक्षकों के तबादले भी निरस्त करने को कहा था। पर, इस पर अब तक कार्रवाई नहीं हो पाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Teacher start piketing from tuesday