snowfall again in Kedarnath month of May - मौसम : केदारनाथ में फिर बिगड़ा मौसम, दोपहर बाद हुई जमकर बर्फबारी DA Image
21 नबम्बर, 2019|9:02|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मौसम : केदारनाथ में फिर बिगड़ा मौसम, दोपहर बाद हुई जमकर बर्फबारी

केदारनाथ धाम में बुधवार सुबह मौसम साफ रहा। बड़ी संख्या में यात्री दर्शनों को केदारनाथ पहुंचे थे, लेकिन दोपहर बाद यहां फिर से भारी बर्फबारी और बारिश होने लगी। खराब मौसम के कारण यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ी। प्रशासन और पुलिस ने ज्यादातर श्रद्धालुओं को दर्शनों के बाद लिंचौली और अन्य सुरक्षित पड़ावों पर भेज दिया। 

बुधवार सुबह उत्तराखंड के ज्यादातर इलाकों में चटक धूप खिली रही। सुबह केदारनाथ में भी मौसम साफ रहा। मौसम को देखते हुए प्रशासन ने सोनप्रयाग और गौरीकुंड से 9048 तीर्थयात्रियों को केदारनाथ के लिए रवाना किया। दोपहर तक अधिकांश यात्री केदारनाथ पहुंच गए थे, जहां दर्शनों के बाद प्रशासन और पुलिस ने यात्रियों को लिंचौली और अन्य सुरक्षित स्थानों के लिए भेजना शुरू कर दिया। इधर, 3 बजे बाद केदारनाथ में बादल घिर गए और साढ़े 3 बजे से बर्फबारी होने लगी। 

एसडीएम गोपाल सिंह चौहान ने बताया कि दोपहर तीन बजे तक केदारनाथ से करीब छह हजार यात्रियों को दर्शन करने के बाद नीचे भेज दिया गया था। जबकि मंगलवार को रुके 450 यात्रियों को भी सुबह ही वापस भेजा गया। बताया कि केदारनाथ में बर्फबारी और अन्य दिक्कतों को देखते हुए यात्रियों को धाम में रुकने नहीं दिया जा रहा है। डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि यात्रा बेहतर ढंग से संचालित हो रही है। मौसम के कारण कुछ दिक्कतें जरूर हो रही हैं, लेकिन संबंधित टीमें काम में जुटी हुई हैं। यात्रियों को दर्शनों के बाद रहने और खाने की अच्छी व्यवस्था दी जा रही है। मौसम पर भी बराबर नजर रखी जा रही है। 

तीन बजे बाद हेली सेवा हो गई बंद 

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ में 3 बजे बाद पूरी घाटी में कोहरा छा गया, जिससे हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं भर सके। सभी हेली कम्पनियां मौसम खुलने का इंतजार करती रहीं। इससे पहले सुबह 6 बजे से 3 बजे तक केदारनाथ में हेली सेवाएं चलती रही, जिससे बड़ी संख्या में यात्री केदारनाथ पहुंचे। केदारनाथ में मौसम खराब होने के कारण हेलीकॉप्टर अपने-अपने हेलीपैडों में खड़े रहे।

गंगोत्री धाम और यमुनोत्री की पहाड़ियों पर गिरी बर्फ 

उत्तरकाशी। बदरीनाथ, यमुनोत्री और गंगोत्री धाम बर्फ से ढका हुआ है। यहां श्रद्धालु दिक्कत के बावजूद बर्फबारी का आनंद उठाते नजर आ रहे हैं। बेमौसम बर्फबारी से यमुनोत्री और गंगोत्री पहुंचने वाले तीर्थ यात्रियों को प्रकृति का भव्य नजारा देखने को मिल रहा है। इसे देखकर वे खासे उत्साहित नजर आ रहे हैं। उत्तरकाशी जिले में बीते चार दिनों से बारिश का सिलसिला जारी है। बारिश के चलते गंगोत्री क्षेत्र के तपोवन,भोजवासा, चीड़वासा तथा गंगोत्री धाम में जमकर बर्फबारी हुई। यमुनोत्री धाम के आसपास के क्षेत्र की पहाड़ियों पर बर्फबारी हुई। गंगोत्री के रावल राजेश सेमवाल ने बताया कि गंगोत्री के ऊंचाई वाले क्षेत्र में बर्फवारी का सिलसिला जारी है। बाबजूद इसके बाद भी हजारों की संख्या में श्रद्धालु गंगोत्री धाम की यात्रा को पहुंच रहे हैं। 

बर्फबारी के बाद मौसम खुशनुमा, बदरीनाथ में यात्रा सुचारू 

बदरीनाथ। मंगलवार को बदरीनाथ में जमकर हुए हिमपात ने यात्रियों को परेशान किया था। जबकि बुधवार को इसी बर्फ ने श्रद्धालुओं के चेहरे खिला दिए। बुधवार को सुबह मौसम खुला और धूप खिली तो बर्फ देखकर यहां श्रद्धालुओं के चेहरे खिल उठे। 

आठ हजार यात्री गए बदरीनाथ, सात हजार लौटे 

बदरीनाथ में बुधवार की सुबह से ही यात्रियों ने अपने गंतव्य की ओर जाना शुरू किया। बदरीनाथ में पुलिस आंकड़ों के अनुसार आठ हजार यात्री अपने गतव्य की ओर निकले, जबकि बुधवार शाम तक सात हजार यात्री बदरीनाथ पहुंचे। इन के आने का सिलसिला जारी है। बदरीनाथ में दोपहर बाद वर्षा भी होने लगी। पुलिस ने साकेत तिराहे से लेकर मंदिर जाने वाले रास्ते व मुख्य बाजार के मार्ग पर पड़ी बर्फ को हटाकर मार्ग को आने जाने के लायक बनाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:snowfall again in Kedarnath month of May