DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सतपाल महाराज के कैबिनेट बैठक में नहीं आने के पीछे कहीं ये वजह तो नहीं

त्रिवेंद्र सरकार के मंत्री सतपाल महाराज क्या वास्तव में सरकार से नाराज हैं? हेलीकॉप्टर मामले में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की नसीहत और गुरुवार को कैबिनेट बैठक में महाराज की गैरहाजिरी ने इस सवाल को पंख दे दिए हैं। यह तीसरा मौका है जब महाराज कैबिनेट बैठक से गैरहाजिर रहे हैं। 

सरकार के मंत्री महाराज अहम मौकों पर उपेक्षा, दो बार कार्यक्रमों में पायलट द्वारा हेलीकॉप्टर की लैंडिंग न करने से खफा थे। उन्होंने सीएम से जांच की मांग तक की थी। पर, बीते मंगलवार सीएम ने महाराज की शिकायतों को खारिज कर उन्हें विशेषज्ञों की राय के अनुसार चलने की सलाह दी थी। इसके बाद गुरुवार को हुई कैबिनेट में सभी की नजर महाराज को तलाश रही थी। पर, वे नहीं आए।

संसदीय मंत्री प्रकाश पंत आए बचाव में

मामले को बढ़ता देख संसदीय कार्य मंत्री प्रकाश पंत ने मोर्चा संभाला। उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। रही बात न आने की तो महाराज ने पहले सूचना दे दी थी।

विधायक तलाशने लगे संवैधानिक संकट

महाराज के नदारद होने की खबर से राजनीतिक शिगूफेबाजी जोरों पर है। अफवाह उड़ी है कि कोई मंत्री लगातार तीन बार कैबिनेट से गायब रहे, तो उसके मंत्री पद पर भी खतरा पैदा हो जाता है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Satpal Maharaj did not attend cabinet meeting in Uttarakhand