DA Image
2 अप्रैल, 2020|5:34|IST

अगली स्टोरी

सतगुरू नानक प्रगटिया मिटी धुंध जन चानन होया गायन से संगत हुई निहाल

default image

गुरु नानक देव के 550 साला प्रकाश पर्व गुरुद्वारा दुख निवारण साहिब नेहरू कॉलोनी के तत्वावधान में कथा कीर्तन के रूप में श्रद्धापूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर रागी जत्थों ने शबद कीर्तन का गायन संगत को निहाल किया।

रविवार को गुरुद्वारा परिसर में सुबह नितनेम के बाद हजूरी रागी भाई सतनाम सिंह ने शबद सतगुरू नानक प्रगटिया मिटी धुंध जन चानन होया का गायन किया। भाई कंवर पाल सिंह देहरादून वालों ने शबद गुरू विन कोये न उतरस पार, मत को भूले संसार और जग अंदर कुदरत बरताई, भई निशानी कोंस दी मक्के अंदर पुज कराई का गायन कर संगत को निहाल किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि गुरु नानक देव ने कर्मकांडों से दूर और बिना भेदभाव के सबके साथ अच्छा व्यवहार कर मेहनत की कमाई मिल बांट कर खाने का उपदेश दिया। मंच का संचालन करते हुए महासचिव रणजीत सिंह ने किया। इस अवसर पर प्रधान अरविंद सिंह रतरा, रणजीत सिंह, अमरपाल सिंह, जीएम डंग, हैड ग्रंथी नसीब सिंह, प्रेमनाथ, मोहन सिंहस, मनमोहन सिंह, सागर आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Satguru Nanak Pragati Mitti Dhud Jana Chanan Hoya became compatible with singing