residents pay tribute to mussoorie firing incident martyr in function held in mussoorie in dehradun - मसूरी गोलीकांड की 25वीं बरसी पर शहीदों को दी श्रदांजलि, देखें VIDEO DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मसूरी गोलीकांड की 25वीं बरसी पर शहीदों को दी श्रदांजलि, देखें VIDEO

मसूरी गोलीकांड की 25वीं बरसी पर शहीदों को श्रदांजलि देने के लिए शहर के विभिन्न राजनैतिक,सामाजिक संगठनों व शहीदों के परिजनों के साथ ही शहरवासी झूलाघर स्थित शहीद स्थल पहुंचे जहां पर उन्होंने उतराखंड के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर सर्वधर्म सभा का आयोजन किया गया व उसके बाद सांस्कृतिक,देश भक्ति व जन गीत प्रस्तुत किये गये। सोमवार को शहीद स्थल झूलाघर पर मसूरी गोलीकांड के छह शहीदों को श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा रहा। मसूरी गोली कांड की बरसी पर शहीद स्थल को दुल्हन की तरह सजाया गया था। इस मौके पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद अजय भटट ने शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि अब यहां पर मेला लगाया जाना चाहिए। उन्होने कहा कि भाजपा सरकार शहीदों के सपनों के अनुरूप कार्य कर रही है,बहुत कुछ किया गया है व बहुत करने को है, शहीदों का उत्तराखंड बनाने को भाजपा कृत संकल्प है। पलायन रोकने के लिए आयोग का गठन किया गया उसकी रिपोर्ट के आधार पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य आंदोलन के तहत मसूरी सहित खटीमा व मुजफफर नगर में गोली कांड हुआ जिसमें कई आंदोलनकारी शहीद हुए,इन्हीं की शहादतों के बदौलत अलग राज्य बना और अलग राज्य बनने  के बाद ही विधायक व सांसद भी बने। उन्होंने कहा कि यह स्थल पवित्र स्थल है यहां पर आकर सभी को शहीदों को नमन करना चाहिए,लेकिन कुछ लोग इसे अपने स्वार्थ के लिए उपयोग करना चाहते हैं वह नहीं होना चाहिए।

 

इस मौके पर विधायक गणेश जोशी ने शहीदों को श्रदांजलि देते हुए कहा कि राज्य आंदोलन में मसूरी की अहम भूमिका रही है,लेकिन दुख इस बात का है कि आज यहां अपेक्षित लोग नहीं आये जब कि सबको आना चाहिए था। उन्होंने कहा कि राज्य आंदोलनकारियों ने अपनी शहादत देकर राज्य निर्माण में अहम भूमिका निभाई जिसे कभी भूलना नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि शहीद स्थल के सौदर्यीकरण के लिए उन्होनें प्रयास किया गया साथ ही इस पर छत डालने की बात पर यहां आपस में विरोधा भाष होने के कारण यह कार्य नहीं हो पाया। अगर सभी लोग चाहेंगे तो यहां छत डाल दी जायेगी। कार्यक्रम में पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला ने मसूरी के आंदोलन के इतिहास पर प्रकाश डाला व कहा कि मसूरी ने राज्य आंदोलन में बहुत कुछ यातनाएं सही। उन्होंने यह भी कहा कि यह मंच सभी का है शहादत स्थल है यहां पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। धनोल्टी विधायक प्रीतम पंवार ने कहा कि मसूरी गोलीकांड ने राज्य निर्माण में अहम भूमिका निभाई व छह लोगों ने शहादत दी है,उन्हें भुलाया नहीं जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अभी राज्य को विकसित करने में समय लगेगा।  वहीं पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि यह वहीं पवित्र स्थल यहां राजनीति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि 9 नवंबर को शहीद स्थल पर पालिका द्वारा मेले का आयोजन किया जायेगा।

 

पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल ने कहा कि राज्य बनने के बाद आज तक विकास नहीं हो पाया है। जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ही जब शहीदों को श्रदांजलि देने मसूरी नहीं पहुचे तो इससे बडे दुख की बात और क्या हो सकती है। वहीं शहीदों के परिजन रवि बंगारी ने कहा कि जिन मुददों को लेकर अलग राज्य की लडाई लड़ी गयी थी ओ आज भी कोसो दूर है। शहीदों के सपनों का उतराखंड कभी बन पायेगा इसकी तुलना करना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि रोजगार के साधन न होने के कारण आज का पढा लिखा युवा नशे का आदी हो गया है। देश में महिलायें सुरक्षित नंहीं है,भष्टाचार चर्म पर पहुंच गया है।पलायन बदस्तुर जारी है।
 
इससे पूर्व शहीद स्थल पर शहीद स्मारक समिति के तत्वाधान में सर्वधर्म सभा का आयोजन किया गया जिसमें हिंदू धर्म के पुरोहित, मुस्लिम धर्म के मौलवी, सिख धर्म के ग्रथियों, ईसाई धर्म के पादरी एवं तिब्बती महिला समिति ने अपने धर्मों के हिसाब से शहीदों को श्रद्धांजलि दी साथ ही शहीदों की आत्माओं की शांति व विश्वशांति के लिए प्रार्थना की। इसके बाद संस्कृति विभाग की ओर से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। जिसमें कलाकारों ने शहीदों की याद में कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस मौके पर लोक गायक जितेंद्र पंवार ने अपने नये मार्मिक गीत से कार्यक्रम स्थल पर बैठे लोगों को भावुक कर दिया।

शहीद स्थल पर श्रद्धांजलि देने वालों में सांसद व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट, विधायक गणेश जोशी, विधायक प्रीतम पंवार, पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता, पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला, पूर्व विधायक काशी सिंह ऐरी, पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल, पूर्व पालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल, भाजपा मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल, कांग्रेस अध्यक्ष सतीश ढौडियाल, बलवंत सिह सोनी, सुभाषिनी बत्र्वाल, शहीद बेलमती चैहान, हंसा धनाई, राय सिंह बंगारी, मदनमोहन ममगाई, धनपत सिहं व बलबीर सिंह नेगी के परिजनों सहित विभिन्न राजनैतिक व सामाजिक संगठनों ने शहीदों को पुष्प अर्पित कर श्रद्धाजंलि दी। इस मौके पर इप्टा की ओर से जनगीत गाये गये।  इस मौके पर इप्टा से जुडे लोगों ने शहीद स्थल पहुंचकर वहां पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम का विरोध किया। उनका कहना था कि ये समय शहीदों को श्रदांजलि देने का है गाने बजाने का नहीं।


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:residents pay tribute to mussoorie firing incident martyr in function held in mussoorie in dehradun