DA Image
2 जून, 2020|2:57|IST

अगली स्टोरी

चिंता:लक्सर क्षेत्र में टायफाइड और वायरल फीवर तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा

लक्सर क्षेत्र में टायफाइड और वायरल फीवर तेजी से फैल रहा है। अकेले सीएचसी में ही रोजाना चालीस से पचास मरीज इसकी जांच करा रहे हैं, जिनमें से करीब आधे मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। इनके अलावा कस्बे व आसपास के बाजारों में डॉक्टरों के क्लीनिक और निजी अस्पतालों में भी मरीज चेकअप को पहुंच रहे हैं। बरसात के मौसम में जलभराव के तुरंत बाद क्षेत्र में मौसमी बीमारियां फैलने लगी है। इस बार भी करीब एक हफ्ते से बीमारियां पैर पसारने लगी हैं। सीएचसी लक्सर पर तैनात डॉ. रविकांत ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से सीएचसी पर रोज ढाई सौ तक नए मरीज आ रहे हैं।  इनमें ज्यादातर मरीज बुखार के अलावा दाद, खाज, खुजली के हैं। सीएचसी के लैब टेक्नीशियन प्रकाश रावत ने बताया कि वे रोज तकरीबन चालीस से पचास मरीजों के खून के सैंपल लेकर जांच कर रहे हैं। इनमें से आधे मरीजों में वायरल या फिर टायफाइड की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। इसके साथ ही लक्सर नगर के अलावा आसपास के बसेड़ी, सुल्तानपुर, रायसी, बहादरपुर, गोवर्धनपुर, भिक्कमपुर, खानपुर, कुड़ी भगवानपुर आदि में प्राइवेट डॉक्टरों के क्लीनिक और निजी अस्पतालों में रोज सैकड़ों मरीज अपनी जांच करा रहे हैं। निजी चिकित्सक डॉ. उमादत्त शर्मा ने बताया कि ज्यादातर मरीज वायरल फीवर के ही आ रहे हैं। इसके बाद सबसे ज्यादा संख्या टायफाइड के मरीजों की है।  निजी डॉक्टरों की मानें तो वायरल बुखार व टायफाइड से पीड़ित ज्यादातर मरीज गंगा व सोलानी नदी के आसपास बसे गांवों के हैं। इस बाबत सीएचसी के अधीक्षक डॉ. विरेंद्र नौटियाल का कहना है कि इन दिनों वायरल व टायफाइड आम बात है। सीएचसी पर दवाइयां मौजूद हैं। अभी तक मलेरिया या डेंगू का एक भी मरीज उनके संज्ञान में नहीं है।  

 
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:residents are falling prey to viral fever