अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तराखंड : घूस मांगने के स्टिंग में फंसे अभियोजन विभाग के दो अफसर सस्पेंड

sub inspector cought seeking bribe

सरकार ने अभियुक्त के साथ एक होटल में शराब पीने और रिश्वत मांगने पर अभियोजन विभाग के संयुक्त निदेशक केशर सिंह चौहान और सहायक अभियोजन अधिकारी राजीव डोभाल को सस्पेंड कर दिया है। स्टिंग में यह खुलासा हुआ था। उनके खिलाफ विजिलेंस जांच भी चल रही है। 

ऊधमसिंहनगर के किच्छा व हल्द्वानी के एक होटल में वर्ष 2014 में  चार बार यह स्टिंग हुआ था। किच्छा निवासी व दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार मनोज रघुवंशी ने भाई और अभियोजन अफसरों के हरकत से आजिज आकर यह स्टिंग बनाया था। मनोज रघुवंशी के भाई धीरज रघुवंशी के खिलाफ धोखाधड़ी के छह मुकदमे हैं। उसने अपने भाई व फुफेरी बहन के नाम से भी फर्जी तरह से बैंक खाता खोला था। धीरज ने अपने भाई के खिलाफ भी जालसाजी कर एक मुकदमा दर्ज कराया था, जो हाईकोर्ट से खारिज हो चुका है। 

आरोप है जनपद के तत्कालीन वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी चौहान और एपीओ डोभाल ने धीरज के साथ साठगांठ कर पत्रकार मनोज से डेढ़ लाख की रिश्वत मांगी। दोनों अभियोजन अधिकारी  ने अभियुक्त के साथ होटल में शराब पीने के दौरान यह डिमांड की थी। मंगलवार को प्रमुख सचिव (गृह) आनंदबर्द्धन ने दोनों अभियोजन अधिकारियों को सस्पेंड करने के आदेश कर दिए हैं। चौहान वर्तमान में ऊधमसिंहनगर में संयुक्त निदेशक जबकि डोभाल टिहरी में एपीओ हैं। दोनों के विरुद्ध विजिलेंस जांच भी लंबित है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:prosecution department Two officers suspended for bribe