DA Image
12 अगस्त, 2020|11:24|IST

अगली स्टोरी

मां ने राशन के लिए दिए रुपये, बैंक ने ईएमआई काट ली

default image

कोरोना के फैलते संक्रमण से पैदा हुए संकट के बीच फाइनेंस कंपनी और बैंक की ओर से लोन की ईएमआई काटाने से कुछ लोगों की समस्या दोगुनी हो गई है। दून के कुछ लोगों ने फाइनेंस कंपनी से फंडिंग करा कर घर का सामान लिया था। उधर लॉकडाउन में काम न चलने से आर्थिक समस्या भी परेशान कर रही है। इस बीच बैंक और फाइनेंस कंपनियों की ओर से लोन की किस्त कटने से खाते की रकम शून्य हो गई है। लोगों ने आरोप लगाया है कि लोन की किस्त स्थगित करने के लिए आवेदन करने के बाद भी ईएमआई काट ली गई।

लॉकडाउन के दौरान लोगों को आर्थिक समस्या न हो इसके लिए भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) की सलाह पर बैंकों ने अपने खाताधारकों की ईएमआई को मई माह तक के लिए स्थगित कर दिया गया था। लेकिन कुछ फाइनेंस कंपनी और बैंक की ओर से लोन की किस्त काटने से लोग परेशान है। करणपुर निवासी सुमित ने बताया कि बजाज फाइनेंस और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की द्वारिका स्टोर वाली शाखा से उनके दो लोन है। लेकिन लॉकडाउन में काम ठप होने से आर्थिक समस्या भी पैदा हो गई है। मां ने अपनी पेंशन से राशन लाने के लिए कुछ रुपये दिए थे। जिसमें से बैंक और फाइनेंस कंपनी ने ईएमआई की रकम वसूल ली। उन्होंने बताया कि इस संबंध में कई बार अधिकारियों से फोन पर संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन अधिकारियों ने फोन नहीं उठाया। सुमित स्टेशनरी की दुकान चलाते हैं। बैंक अधिकारियों को कहना है कि लोन की किस्त को स्थगित किया गया है, माफ नहीं। तीन महीने बाद लोन की किस्त चुकानी होगी।

सूचित करने के बाद भी काट ली ईएमआई

डीएल रोड निवासी रवि प्रकाश ने इंडिया बुल्स से लोन लिया है। अप्रैल और मई माह की ईएमआई स्थगित करने के लिए उन्होंने ऑनलाइन आवेदन भी किया था। कंपनी की ओर से किस्त न कटने का भी मैसेज आया था। लेकिन अप्रैल माह की किस्त काट ली गई जबकि अप्रैल माह की किस्त कटने का भी मैसेज आ गया है। मुश्किल की इस घड़ी में रवि की आय का साधन पूरी तरह से ठप है।

इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग सर्विसेज (ईसीएस) प्रणाली से बैंक ऋणधारकों से लोन की वसूली करते हैं। लोन की ईएमआई को स्थगित करने के लिए बैंक को सूचित करना होता है। अगर सूचित करने के बाद भी लोन की किस्त कटी है तो वह भी वापस मिल सकती है। इसके लिए ऋणधारक को लिखित में बैंक से अपील कर सकता है। कुछ समय बाद वसूली गई ईएमआई की रकम ऋणधारक के खाते में आ जाएगी।

संजय भाटिया, लीड बैंक मैनेजर, पीएनबी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mother gave money for ration bank deducted EMI