DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तराखंड में भूकंप पर रोंगटे खड़े कर देने वाला खुलासा, यकीन करना मुश्किल

उत्तराखंड में भूकंप के झटकों को लेकर चौंका देने वाली रिपोर्ट सामने आई है। भारतीय भूकंप सर्वेक्षण की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक बीते तीन सालों में उत्तराखंड में 50 भूकंप रिकॉर्ड किए गए हैं। औसतन हर 22वें दिन भूकंप आ रहा है। बीते तीन सालों के आंकड़ों के मुताबिक सबसे अधिक भूकंप चमोली (14 बार) और पिथौरागढ़ (12 बार) में आए हैं। 

साल दर साल भूकंप के आंकड़े भी बढ़ रहे हैं। 2015 में 13, 2016 में 17 और 2017 में 18 भूकंप दर्ज किए गए। 2018 में अब तक दो भूकंप दर्ज किए गए हैं। तीन सालों में सबसे कम क्षमता का भूकंप 2.9 मैग्नीटयूट का रहा, जो चमोली जिले में आया था। इतनी कम क्षमता के भूकंप से नुकसान नहीं होता। भूकंप का पिछला आंकड़ा पांच साल पहले का था। जिसके मुताबिक यह औसतन 30 दिन का था। इस अवधि में सबसे तेज भूकंप फरवरी 2017 में रिक्टर स्केल पर 5.7 मैग्नीटयूट क्षमता का आंका गया। इसका केंद्र रुद्रप्रयाग जनपद रहा। इसके अलावा भारत-नेपाल बॉर्डर पर पिथौरागढ़ में 5.5 और 5.2 क्षमता के कुछ अधिक क्षमता के भूकंप दर्ज किए गए थे।

क्यों आते हैं भूकंप

भारत में भूकंप आने का कारण, इंडियन प्लेट का यूरेशियन प्लेट की ओर मूव करना है। हिमालय वह बिंदु है, जहां हर रोज प्लेटों का ये संघर्षण होता है। इस संघर्षण से हिमालय के भीतर व ईद-गिर्द मेन बाउंटी थ्रस्ट व मेन सेंट्रल थ्रस्ट का निर्माण हुआ है। भारत में आने वाले लगभग सभी भूकंप इन्हीं फॉल्ट के ईद-गिर्द के्द्रिरत रहते हैं। कमजोर स्थलों को ही फॉल्ट कहा जाता है। हिमालय के बाहर आने वालों भूकंपों की तीव्रता कम रहती है।

भूकंप पर जानिए ये महत्वपूर्ण तथ्य 

केन्द्र : इसको एपीसेन्टर कहते हैं। भौगोलिक रूप से उस बिंदु को केन्द्र मानते हैं, जहां प्रारंभिक हलचल शुरू हुई हो। भूकंप का फोकस, वह बिंदु है जहां से भूकंपीय लहरें पैदा होती हैं।

पूर्वानुमान : विज्ञान की तमाम प्रगति के बावजूद, अभी तक भूकंप का पूर्वानुमान कर पाना संभव नहीं है। कोई भी देश भूकंप के बारे में पहले से कुछ नहीं बता सकता। इसकी तीव्रता, गहराई व समय के बारे में नहीं जाना जा सकता। 

भूकंप का वर्गीकरण 

हल्का           रिक्टर स्केल पर 4.9 मैग्नीट्यूड तक
मॉडरेट         रिक्टर स्केल पर 5 से 6.9 मैग्नीट्यूड 
भारी            रिक्टर स्केल पर 7 से 7.9 मैग्नीट्यूड
अति भारी     रिक्टर स्केल पर 8 या उससे अधिक

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Latest survey of earthquake in Uttarakhand