अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गगन शक्ति 2018 : चीन सीमा के निकट भारतीय वायुसेना ने दिखाई ताकत- VIDEO

भारतीय वायुसेना के सबसे बड़े अभ्यास ‘गगन शक्ति-2018’ का हिस्सा उत्तराखंड भी बना। चीन सीमा के निकट भारतीय वायुसेना ने अपनी ताकत दिखाकर ये साबित कर दिखाया कि वह विषम परिस्थितियों का सामना करने के लिए भी पूरी तरह तैयार है। 

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में चिन्यालीसौड़ हवाई पट्टी पर ऑपरेशन गगन शक्ति 2018 का नजारा देखने लायक था। भारतीय वायुसेना और थल सेना मंगलवार को यहां संयुक्त रूप से सैन्य अभ्यास किया गया। सैन्य अभ्यास के चलते हवाई पट्टी पर सुबह 6 बजे से दोपहर तक एएन-32 विमान ने हवाई पट्टी पर तीन बार सफलता पूर्वक लैंडिंग और टेकऑफ किया। भारतीय वायु सेना के इस अभ्यास को टू फ्रंट वार की तैयारी का भी एक हिस्सा भी माना जा रहा है। 

डोकलाम विवाद का असर, चीन सीमा पर सेना ने शुरू किया ऑपरेशन ‘गगन शक्ति’

चिन्यालीसौड़ हवाई पट्टी पर भारतीय वायुसेना का यह अब तक का सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास माना जा रहा है। इसमें सबसे पहले चिन्यालीसौड़ हवाई पट्टी पर 30-30 कमाड़ो दस्तों को लेकर पहुंचे एएन-32 लड़ाकू विमान ने पहली लैंडिंग सुबह 7.15 बजे, दूसरी सुबह 7.45 बजे और तीसरी लैंडिंग 8.19 बजे की। इसके बाद वायु सेना के दो हेलीकॉप्टर अभ्यास में जुट गए और कमाडोंज के साथ चीन सीमा पर स्थित हर्षिल हेलीपैड का निरीक्षण किया। इस दौरान चिन्यालीसौड़ से हर्षिल तक हेलीकॉप्टर ने करीब 6 बार राउंड लगाए।

सेना की टीम ने यहां भारत चीन सीमा का हवाई सर्वेक्षण किया। इंजीनियर घनश्याम सिंह ने बताया कि इस अभ्यास में भारतीय सेना और थल सेना शामिल रही। अभ्यास के दौरान हर्षिल और चिन्यालसीसौड़ हेलीपैड परीक्षण किया गया। सैन्य अभ्यास को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से चिन्यालीसौड़ में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे। आज मीडिया को अंदर नहीं आने दिया गया। सेना अभ्यास के दौरान हवाई पट्टी को पूरी तरह से प्रतिबधित किया गया था। 

डोकलाम विवाद : चीन सीमा पर बढ़ी भारतीय सेना की सक्रियता 

डोकलाम विवाद के बाद चीन की सीमाओं पर भारतीय सेना की सक्रियता बढ़ी है। डोकलाम विवाद के बाद चार बार वायुसेना के अधिकारी चिन्यालीसौड़ हवाई पट्टी का निरीक्षण कर चुके हैं। फरवरी में भी एएन-32 विमान से टेक ऑफ और लैंडिंग भी कराई गई। इससे पहले वायुसेना हरक्यूलिस विमान से भी हवाई पट्टी का परीक्षण कर चुकी है। पाकिस्तान और चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद के बीच भारतीय वायुसेना सबसे बड़े सैन्य अभ्यास की तैयारी में जुटी है। इसे ‘गगन शक्ति 2018’ नाम दिया गया है। 

गगनशक्ति 2018: वायुसेना का बड़ा शक्ति प्रदर्शन, एयरचीफ बोले- आसमान को हिलाने का है माद्दा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Indian Air Force practiced under Gagan Shakti 2018 in Uttarakhand