ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंड देहरादूनश्रद्धा पूर्वक मनाया गुरु हरगोबिंद साहिब का 429वां पावन प्रकाश पर्व

श्रद्धा पूर्वक मनाया गुरु हरगोबिंद साहिब का 429वां पावन प्रकाश पर्व

सिख सेवक जत्थे की 63 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में मीरी पीरी के मालिक छठे गुरु श्री गुरु हरगोबिंद साहिब जी का प्रकाश पर्व श्रद्धा एवं उत्साह पूर्वक कथा...

श्रद्धा पूर्वक मनाया गुरु हरगोबिंद साहिब का 429वां पावन प्रकाश पर्व
default image
हिन्दुस्तान टीम,देहरादूनSat, 22 Jun 2024 05:45 PM
ऐप पर पढ़ें

सिख सेवक जत्थे की 63 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में मीरी पीरी के मालिक छठे गुरु श्री गुरु हरगोबिंद साहिब जी का प्रकाश पर्व श्रद्धा एवं उत्साह पूर्वक कथा -कीर्तन के रूप में गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा आढ़त बाजार में मनाया गया।
कार्यक्रम में नितनेम के पश्चात नरेंद्र सिंह ने आसा की वार का शब्द गायन किया। श्री अखण्ड पाठ साहिब के भोग के पश्चात बेबे नानकी सेवक जत्थे व हजुरी रागी भाई गुरदयाल सिंह ने शब्द गायन किया। हेड ग्रंथी ज्ञानी शमशेर सिंह ने कहा कि गुरु हरगोबिंद साहिब का जीवन एक बड़े योद्धा के रूप में व परोपकारी वाला रहा है। मीरी-पीरी की दो तलवारें लेकर गुरु जी ने धर्म और राजनीति का सुमेल किया। कार्यक्रम में विशेष रूप से पावंटा साहिब से आऐ रागी भाई अमनप्रीत सिंह ने शब्द “पंज प्याले पंज पीर छटम पीर बैठा गुर भारी..” का गायन किया। गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा के प्रधान गुरबक्श सिंह राजन को सम्मान चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। महासचिव गुलज़ार सिंह ने संगत को प्रकाश पर्व की बधाई दी। पूर्व महासचिव स्वर्गीय सेवा सिंह मठारू के परिवार को उनकी सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया। गुरू महाराज का आशीर्वाद लेने पहुंचे विशाल गुप्ता को समर्पित चिन्ह व शॉल देकर सम्मानित किया। सतिंदर सिंह, बाबा परिवार, गुरप्रीत सिंह छाबड़ा, बेबे नानकी जत्था को उनकी सेवाओं के लिए सम्मानित किया। संचालन करते हुए दविंदर सिंह भसीन, सतनाम सिंह ने संगतों को आने वाली 30 जून को विशेष कथा-कीर्तन दरबार में हाज़िरी भरने की विनती की l सब के भले की अरदास हेड ग्रंथी शमशेर सिंह ने की। कार्यक्रम के पश्चात संगत ने गुरु का लंगर प्रसाद छका। इस अवसर पर गुरदीप सिंह टोनी, राजिंदर सिंह राजा, सुरजीत सिंह कोहली, अरविन्दर सिंह, जगमिंदर सिंह छाबड़ा, चरणजीत सिंह चन्नी, मनजीत सिंह, जत्थेदार सोहन सिंह, आरएस राणा, गुरप्रीत सिंह जौली, अमरजीत सिंह छाबड़ा, अरविन्द सिंह, गुरदियाल सिंह, हरजीत सिंह नत्था, हरभजन सिंह, दिलबाग सिंह, जगमोहन सिंह, अरविन्द सिंह, सुरेंद्र सिंह, अजीत सिंह मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।