Doon Valley Theater's 16th Natya Festival 20 - दून घाटी रंगमंच का 16 वां नाट्य महोत्सव 20 से DA Image
14 दिसंबर, 2019|4:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दून घाटी रंगमंच का 16 वां नाट्य महोत्सव 20 से

दून घाटी रंगमंच संस्था का 16 वां भारत संस्कृति दर्पण नाट्य महोत्सव 20 से 23 मई तक नगर निगम के प्रेक्षागृह में होगा। जिसमें 15 राज्यों के चार से कलाकार हिस्सा लेंगे। नाटकों के अलावा लोककलाकारों की प्रस्तुतियां आयोजन का खास आकर्षण होंगी।

प्रेस क्लब में हुई प्रेसवार्ता में संस्थापक अध्यक्ष लक्ष्मी नारायण ने बताया कि आयोजन का उद्घाटन संस्कृति विभाग की निदेशक बीना भट्ट करेंगी। कार्यक्रम दो चरणों में होगा। पहला चरण में सुबह दस से दिन में दो बजे तक लोकनृत्य व दूसरे चरण में शाम तीन से रात्रि दस बजे तक हिंदी नाटकों का मंचन होगा। देशभर से करीब 32 नाट्य दल आयोजन में प्रस्तुति देंगे। अतिथि कलाकारों के आवास,भोजन व्यवस्था कालूमल धर्मशाला व गीता भवन में निशुल्क की गई है। कलाकारों की प्रतिभा मूल्यांकन के लिए इसे प्रतियोगिता का स्वरूप दिया गया है। नाटकों के निर्णायक सोलन हिमाचल से उत्तम कुमार, आरा बिहार से अशोक मानव, लखनऊ यूपी से प्रदीप राज होंगे। लोकनृत्य निर्णायकों में देहरादून उत्तराखंड से वंदना शर्मा, संगीताचार्य शैलजा मधवाल, मणी भारती शामिल हैं। प्रथम स्थान पर आने वाले नाट्य दल को 12 हजार रूपये, वेजंती, सम्मान पत्र, दूसरे स्थान पर आठ हजार रूपये व तीसरे स्थान पर आने वाले नाट्य दल को पांच हजार रूपए नकद पुरस्कार दिए जाएंगे। लोकनृत्य प्रतियोगिता में भी प्रथम स्थान पाने वाले दल को तीन हजार रूपए दिए जाएंगे। युवा लोक नर्तक, एकल लोकनृत्य विजेता को भी नकद धनराशि दी जाएगी। नाटक का प्रथम पुरस्कार दूनघाटी महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष रही स्व.शांति देवी के नाम से दिया जाएगा। कार्यक्रम के अंतिम दिन शहर में कालूमल धर्मशाला में कलाकार रंगयात्रा के जरिए लोकझलकियां प्रस्तुत करेंगे। प्रेसवार्ता में सेवा सिंह मठारू, नीनू सहगल, सोम प्रकाश वाल्मिकि, महेश नारायण, सरला सिंह दोहरे, कुसुम वेदना, सुरमई, सुरेश पारछा, अनिल वर्मा, तीरथ कुकरेजा, टीसी बैचेन मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Doon Valley Theater's 16th Natya Festival 20