DA Image
5 जून, 2020|8:45|IST

अगली स्टोरी

सीजीएचएस मुद्दे पर दून केंद्रीय पेंशनर्स एसोसिएशन ने जताया रोष

default image

दून केंद्रीय पेंशनर्स एसोसिएशन उत्तराखंड ने सीजीएचएस संविदा कर्मचारियों को हटाए जाने के आदेश का विरोध किया है। इसे लेकर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने शनिवार को एक बैठक का आयोजन किया। इस आदेश पर गहरी नाराजगी व्यक्त की।

बैठक के दौरान एसोसिएशन के महासचिव एसएस चौहान ने कहा कि सीजीएचएस कर्मचारी एक दशक से भी अधिक समय से अपनी सेवाएं दे रहे हैं। ऐसे में लॉक डाउन की इस घड़ी में कर्मचारियों को अकारण हटाए जाने का आदेश समझ से परे है। उन्होंने हैरानी व्यक्त करते हुए कहा कि कहां तो ऐसे संविदा कर्मचारियों को सेवा विस्तार के साथ वेतन बढ़ाया जाना चाहिए था जबकि कर्मचारियों को निकाला जा रहा है। एसोसिएशन ने सीजीएचएस निदेशालय दिल्ली की इस कार्रवाई का विरोध किया है। एसोसिएशन ने कहा कि सीजीएचएस सविदा कर्मचारियों के निकाले जाने से इसका असर उत्तराखंड पर भी पड़ेगा। यहां करीब 40 हजार लाभार्थी कर्मचारियों के जाने से प्रभावित होंगे। एसोसिएशन ने कर्मचारियों को नहीं हटाने की बात कही।

बैठक में एसोसिएशन के अध्यक्ष केएस बंगारी, संरक्षक एनएन बलूनी, उपाध्यक्ष जीत सिंह नेगी, संगठन सचिव अशोक शंकर, जयानंद,हरमिंदर काला आदि शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Doon Central Pensioners Association expresses anger over CGHS issue