DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › देहरादून › दून अस्पताल के कोरोना योद्धाओं को नवाजा, मेयर और विधायक ने किया सम्मानित
देहरादून

दून अस्पताल के कोरोना योद्धाओं को नवाजा, मेयर और विधायक ने किया सम्मानित

कार्यालय संवाददाता,देहरादून। Published By: Dinesh
Sun, 17 May 2020 04:36 PM
दून अस्पताल के कोरोना योद्धाओं को नवाजा, मेयर और विधायक ने किया सम्मानित

दून अस्पताल में मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक खजानदास की ओर से रविवार को दून अस्पताल में कोरोना मरीजों का उपचार एवं व्यवस्थाओं में जुटे डाक्टरों, मेडिकल स्टॉफ एवं अफसरों को सम्मानित किया। उन्होंने प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना, एमएस डा. केके टम्टा, डिप्टी एमएस डा. एनएस खत्री, नोडल अधिकारी डा. अनुराग अग्रवाल, एएनएस रामेश्वरी नेगी, सिस्टर सुनीता आर्थर, वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी महेंद्र भंडारी, पीआरओ संदीप राणा, सफाई कर्मी स्वर्णवती को बुके एवं प्रशस्ति पत्र देकर और शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया।

उन्होंने कहा कि जब कोरोना मरीज से हर कोई दूर भाग रहा है, ऐसे में डाक्टर, मेडिकल स्टॉफ अपनी जान जोखिम में डाल उनका इलाज कर हमारी ढ़ाल बने हैं। हमें इन सब पर नाज है। उन्होंने लोगों से इनके सम्मान की अपील की। इस दौरान डा. नारायणजीत सिंह, चीफ फार्मासिस्ट सुधा कुकरेती, दिनेश रावत, कुलदीप, देशबंधु, भाजपा मंडल अध्यक्ष विशाल गुप्ता, महामंत्री विपिन खंडूरी, राहुल लारा, भाग सिंह नेगी, दीपक अग्रवाल, दीपेश आदि मौजूद रहे।  

न बुलाने डाक्टर-कर्मचारियों ने नाराजगी जताई 

कोरोना में जज्बे के साथ ड्यूटी कर रहे कुछ डाक्टरों एवं कर्मचारियों ने उन्हें कार्यक्रम की सूचना तक नहीं दिये जाने पर गुस्सा जाहिर किया है। चीफ फार्मासिस्ट सुधा कुकरेती ने तो प्राचार्य एवं डिप्टी एमएस के सामने ही अपना रोष प्रकट किया। कुछ कर्मचारी मायूस दिखाई दिये। एमएस, एएनएस, पीआरओ को एन वक्त पर बिना प्रशस्ति पत्र के सम्मानित किया गया।

डिप्टी एमएस डा. मनोज शर्मा ने कहा कि इस तरह से सम्मान कार्यक्रम में कोरोना ड्यूटी में जज्बे से जुटे डाक्टरों एवं कर्मचारियों को न बुलाया जाना उनका मनोबल तोड़ने वाला है। प्रशस्ति पत्र बनने, कार्यक्रम तय होने में समय लगा होगा। ऐसे में सबको सूचना दी जानी चाहिये थी। प्राचार्य से इसकी शिकायत की गई है। उधर, प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना का कहना है कि यह विधायक और भाजपा की ओर से कार्यक्रम था। उन्हें खुद कार्यक्रम की जानकारी देरी से मिली। किसी को मेरी ओर से निमंत्रण नहीं भेजा गया। पूरी टीम कोरोना में जुटी है, ये विरोधाभास ठीक नहीं है।

संबंधित खबरें