अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आयुर्वेदिक डॉक्टरों को एमबीबीएस के समान वेतन देने का आदेश

हाईकोर्ट ने उत्तराखंड में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत कार्य कर रहे आयुष डॉक्टरों को एमबीबीएस डॉक्टरों के समान वेतन देने के आदेश दिए हैं। अदालत ने कहा कि इसमें समान कार्य के लिए समान वेतन नियम लागू होगा।

आयुष विंग के डॉ.संजय सिंह समेत 101 डॉक्टरों ने कोर्ट में याचिका दायर कर कहा था कि वे राज्य के विविध क्षेत्रों में एनआरएचएम के अंतर्गत तैनात हैं। उन्हें 28 हजार मासिक मानदेय दिया जा रहा है, जबकि एलोपैथिक डॉक्टरों को 48 हजार रुपये प्रतिमाह भुगतान किया जा रहा है। याची के अधिवक्ता बीएन मौलेखी ने दलील दी कि सरकार का यह कदम समान कार्य-समान वेतन के प्रावधान का उल्लंघन है। समान कार्य के लिए समान वेतन देने की व्यवस्था होनी चाहिए। 
मंगलवार को न्यायमूर्ति राजीव शर्मा और आलोक सिंह की संयुक्त पीठ ने मामले की सुनवाई की।   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ayurvedic doctors pay similar to MBBS