अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर में कार्ड स्वैप कर दीजिए चढ़ावा, Paytm की भी सुविधा

देशभर में एटीएम में कैश संकट के बीच चारधाम यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं के लिए राहत की खबर आई है। समस्या को देखते हुए बदरीनाथ और केदारनाथ मंदिर में चढ़ावे की व्यवस्था डिजीटल होने जा रही है। यहां भगवान को चढ़ावा या दान के लिए कैश लाने की जरूरत नहीं है। श्रद्धालु एटीएम या क्रेडिट कार्ड स्वैप कर चढ़ावे का भुगतान कर सकते हैं। इतना ही नहीं Paytm से भुगतान की सुविधा भी शुरू की गयी है।

खास बात यह है कि बदरी-केदार मंदिर समिति ने श्रद्धालुओं के लिए इस साल से ऑनलाइन पूजा का विकल्प खोल दिया है। श्री बदरीनाथ और केदारनाथ धाम में अभिषेक और महाभिषेक पूजाओं का अपना महात्म्य है। अब इन्हें घर बैठे ऑनलाइन भी संपन्न कराया जा सकेगा। साथ ही मंदिर में दान या चढ़ावा देने वालों को डिजीटल पेमेंट की सुविधा मिल सकेगी। बता दें कि हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु इन दोनों धामों में दर्शनों के लिए आते हैं। बता दें कि केदारनाथ मंदिर के कपाट 29 अप्रैल को खुल रहे हैं, जबकि बदरीनाथ मंदिर के कपाट 30 अप्रैल को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। उत्तराखंड मे चारधाम यात्रा 18 अप्रैल को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ शुरू हो जाएगी।

नकदी संकट : ATM की लाइन में लोग परेशान , RBI बोला- कैश की कोई किल्लत नहीं, VIDEO

दोनों मंदिरों में रोजाना होती है विशेष पूजा

बदरीनाथ और केदारनाथ मंदिर पूजाएं सामान्य दिनों में रोजाना सुबह चार बजे से साढ़े छह बजे तक होती हैं। दोपहर और शाम को अन्य पूजा, आरती होती हैं। केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने पर कई बार पूजाएं सुबह ढाई बजे से शुरू कर दी जाती हैं। बदरीनाथ धाम में एक बार में 35 श्रद्धालु तक विशेष पूजा में बैठते हैं, जबकि केदारनाथ में एक बार में एक ही परिवार के सदस्यों के लिए यह पूजा संपन्न कराई जाती है। मंदिर समिति की वेबसाइट http://www.badarikedar.org पर इन पूजाओं की बुकिंग की जाएगी।

एटीएम और पेटीएम से भी दान-चढ़ावे की सुविधा

श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के सीईओ बीडी सिंह ने बताया कि अब तक यात्री पूजा, दान व चढ़ावे का भुगतान पर्ची कटाकर मंदिर समिति को करते थे। लेकिन, यात्रियों की संख्या हजारों में होने के कारण भुगतान के लिए उन्हें लंबी लाइन लगानी पड़ती थी। यात्रा के चरम काल में तो कई यात्री बिना दान किए ही भगवान के दर्शन कर वापस लौट जाते थे। इसके मद्देनजर मंदिर समिति ने इस साल से पेटीएम से दान देने की सुविधा भी दे दी है। साथ ही पीएनबी और एसबीआई से तय करके एटीएम स्वैप मशीनें भी बदरीनाथ और केदारनाथ में लगवाई जा रही हैं। श्रद्धालु अब दान या चढ़ावे का भुगतान डिजीटल पेमेंट के जरिये कर सकेंगे। कहा कि इससे समिति को कैश कलेक्शन में भी राहत मिलेगी।

विशेष पूजाओं की दरें 

बदरीनाथ धाम  

महाभिषेक पूजा- 4300 रुपये प्रति व्यक्ति, अभिषेक पूजा- 4101 रुपये प्रति व्यक्ति, वेद पाठ- 2100 रुपये प्रति व्यक्ति, गीता पाठ- 2500 रुपये प्रति व्यक्ति, स्वर्ण आरती- 376 रुपये, विष्णु सहस्रनाम पाठ- 456 रुपये, कपूर आरती- 151 रुपये, शयन आरती- 3100 रुपये, 

केदारनाथ धाम 

महाभिषेक- 1700 रुपये प्रति व्यक्ति, रुद्राभिषेक- 1300 रुपये, लघु रुद्राभिषेक- 1100 रुपये, बालभोग- 900 रुपये, शिव सहस्रनाम पाठ- 360 रुपये, शिव महिमास्त्रोत पाठ- 360 रुपये, शिव तांडवास्त्रोत पाठ- 340 रुपये, षोडशोपचार- 1000 रुपये, संपूर्ण आरती- 1500 रुपये 

ये होंगे विकल्प 

- मंदिर समिति के खाते में ऑनलाइन राशि भुगतान
- पेटीएम के जरिये मंदिर समिति के खाते में भुगतान
- बदरी–केदार मंदिर समिति के नाम बैंक ड्राफ्ट
- एटीएम या क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने की सुविधा

चारधाम यात्रा : कल खुलेंगे गंगोत्री-यमुनोत्री मंदिर के कपाट, मां गंगा की डोली रवाना

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ATM Card Swap and Paytm facility in Badrinath and Kedarnath temple