DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देहरादून : वायुसेना की बड़ी रिहर्सल, पहले फाइटर प्लेन उड़ाए फिर मालवाहक विमान उतारा

उत्तराखंड से लगी चीन की सीमा पर सुरक्षा चौकसी और आपदा के मद्देनजर वायुसेना ने गुरुवार को जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर बड़े स्तर पर अभ्यास किया। इस दौरान दो लड़ाकू सुखोई विमानों ने जौलीग्रांट एयरपोर्ट के रनवे पर लैंडिंग और टेकऑफ किया।

एक नहीं बल्कि दो-दो बार दोनों विमान रनवे पर उतरे और टच करने के बाद फिर आसमान में उड़ान भर गए। बताया जा रहा है कि दोनों विमान यहां से पहाड़ों की ओर उड़ गए और चीन सीमा के आसमान के इलाका जायजा लेकर वापस लौट गए। जौलीग्रांट एयरपोर्ट के सूत्रों के मुताबिक दोनों विमानों ने हिंडन एयरबेस से उड़ान भरी थी। सूत्रों के मुताबिक सुरक्षा के मद्देनजर वायुसेना ने यह अभ्यास किया। सुबह करीब सवा दस बजे अचानक आसमान में लड़ाकू विमान मंडराने से लोग हैरत में भी पड़ गए। लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं होती रही।

कुछ देर बाद जब विमान लौटने लगे तो लोगों को बात समझ में आई। सुरक्षा कारणों से इस बार में एयरपोर्ट प्रबंधन के अफसर कुछ भी आधिकारिक जानकारी नहीं दे रहे हैं। उधर, जौलीग्रांट एयरपोर्ट में गुरुवार को एक और हवाई सेवा का विस्तार हुआ। शाम करीब 7: 29 बजे सी-17 एयरफोर्स के मालवाहक विमान ने एयरपोर्ट पर लैंडिंग की। एयरपोर्ट सूत्रों के मुताबिक इस मालवाहक विमान से भारी मात्रा में रसद लायी और ले जायी जा सकेगी। पहाड़ में प्राकृतिक आपदा के दौरान यह मालवाहक विमाल मील का पत्थर साबित होगा। सेना को भी इससे व्यापक लाभ मिलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:air force exercises on landing of sukhoi aircraft at jollygrant airport