DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों को बताया भू-कटाव के लिए जिम्मेदार

शारदा नदी से आस पास के गांवों में हो रहे भू कटाव का ठीकरा ग्रामीणों ने जन प्रतिनिधियों के सिर फोड़ा है। ग्रामीणों का कहना है कि अब तक चैन की नींद सो रहे जनप्रतिनिधि बारिश के सीजन के ठीक पहले बाढ़ सुरक्षा कार्य करवाने की मांग कर रहे हैं। गैड़ाखाली, थ्वालखेड़ा, खेतखेड़ा के ग्रामीणों का कहना है कि बरसात का सीजन नजदीक है, ऐसे में शारदा नदी से होने वाले भू-कटाव और बाढ़ से बचाव के लिए बाढ़ सुरक्षा कार्य की मांग करना जनता को वेवकूफ बनाना है। जनप्रतिनिधियों को इसकी मांग तीन माह पूर्व करनी चाहिए थी। ग्रामीण गिरीश जोशी, पुष्कर सिंह, मोहन जोशी, जमुना माई, शांति देवी, गोबिन्दी देवी, मालती देवी, कलावती देवी, बसन्ती देवी, गोपाल सिंह, वार्ड सदस्य त्रिलोक सिंह आदि ने बताया कि मानसून सत्र का एक माह बचा है जनप्रतिनिधि औपचारिकता के लिए बाढ़ सुरक्षा की मांग कर रहे हैं। आरोप लगाया कि जनप्रतिनिधियों ने पहले गांव की तरफ खनन कार्य किये जाने पर अपनी सहमति जताई थी और अब जनता की सुरक्षा की दुहाई दे रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Villagers told the representatives to be responsible for land erosion