DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टनकपुर में जालसाजी के आरोपी अब तक नहीं हुए गिरफ्तार

उत्तराखण्ड के फर्जी नम्बरों से हरियाणा के डम्परों से उपखनिज निकासी करने के आरोपी नौ डम्पर स्वामियों के खिलाफ रविवार को मुकदमा तो दर्ज कर लिया गया लेकिन आरोपियों की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हो पाई है। इधर सूत्रों के मुताबिक जालसाजी प्रकरण में शामिल कुछ आरोपियों के नेताओं से संबंध हैं।

राजनैतिक दबाव के चलते आरोपियों को अब तक अभयदान मिला है। कुछ आरोपियों के संबंध नेताओं से हैं गिरफ्तारी की कार्रवाई न होने से एक बार फिर तरह-तरह की अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। चर्चा है कि कई आरोपी पुलिस की पकड़ से बचने के लिए सुरक्षित ठिकानों पर पनाह लेने के लिए चले गये हैं। बता दें कि रविवार को एआरटीओ रश्मि भट्ट ने उत्तराखंड के फर्जी नम्बरों से हरियाणा से लाये गये डम्परों से खनन निकासी करने के आरोप में डम्पर स्वामी कुलदीप सिंह पाटनी, भुवन सिंह महर, कुन्दन सिंह, राजेन्द्र सिंह, सूर्य प्रकाश, मोहित गड़कोटी, बसन्त कुमार, राजेन्द्र कुमार गौतम और चेतराम गड़कोटी के खिलाफ सरकारी दस्तावेजों की कूट संचरना जैसी संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करवाया था। बावजूद इसके आरोपी अब तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ पाये हैं। कोतवाल चन्द्रमोहन सिंह ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। शीघ्र सभी को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The accused of forgery in Tanakpur have not been arrested till now