DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पॉलीटेक्निक के संविदा शिक्षकों को नहीं मिला मानदेय

राजकीय पॉलीटेक्निक लोहाघाट में कार्यरत संविदा शिक्षकों ने मानदेय न मिलने और सेवा विस्तार के शासनादेश का पालन न करने पर गहरी नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने विभागीय असफरों पर मनमानी का आरोप लगाया है।

राजकीय पॉलीटेक्निक में विभिन्न विषयों में कार्यरत संविदा शिक्षकों में कैलाश शंकर, नितेश विश्वकर्मा, हर्षिता राय बगौली, मनीष भट्ट ने कहा कि विभागीय अफसरों की मनमानी का खामियाजा राज्य के राजकीय पॉलीटेक्निक में कार्यरत करीब 250 शिक्षक भुगत रहे हैं। उन्हें बिना कारण बताए ही हटाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोहाघाट पॉलीटेक्निक में कार्यरत संविदा शिक्षकों को जून के आदेशानुसार सचिव स्तर से सेवा का विस्तार दिया था। अब न तो उन्हें मानदेय दिया जा रहा है और न ही उनको रजिस्टर में हस्ताक्षर करने दिए जा रहे हैं। इसके बाद भी संविदा शिक्षक संस्थान संस्था में लगातार पूर्ण मनोयोग से अध्यापन कार्य कर रहे हैं। कर्मशाला अनुदेशक जितेन्द्र कर्नाटक, शैलजा वर्मा, मनोज जोशी, जसवीर सिंह ने कहा कि उन्हें इस सत्र में सेवा विस्तार नहीं दिया गया है। इससे अध्यापन कार्य प्रभवित हो गया है। संविदा शिक्षकों ने शासनादेश का पालन करते हुए समय से वेतन और सेवा विस्तार के पालन करने की मांग की है। वहीं पॉलीटेक्निक के प्रधानाचार्य रमेश चन्द्र ने कहा कि संविदा कर्मियों को थर्ड पार्टी के माध्यम से ही मानदेय मिल सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Polytechnic contract teachers do not get honorarium