DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › चम्पावत › चम्पावत में मिनिस्ट्रीयल कर्मियों ने प्रदर्शन किया
चम्पावत

चम्पावत में मिनिस्ट्रीयल कर्मियों ने प्रदर्शन किया

हिन्दुस्तान टीम,चम्पावतPublished By: Newswrap
Fri, 30 Jul 2021 10:50 PM
चम्पावत में मिनिस्ट्रीयल कर्मियों ने प्रदर्शन किया

फेडरेशन ऑफ मिनिस्ट्रीयल सर्विसेज एसोसिएशन ने एससीपी बंद करने के आदेश को तत्काल निरस्त करने की मांग की है। इस संबंध में कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। बाद में संगठन की बैठक में 11 सूत्रीय मांगों पर विचार विमर्श किया गया। शीघ्र मांग पूरी नहीं करने पर आंदोलन की राह पकड़ने का ऐलान किया।

शुक्रवार को संगठन जिलाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह सौन के नेतृत्व में कर्मचारियों ने बैठक का आयोजन किया। वक्ताओं ने कनिष्ठ सहायक पद की शैक्षिक अर्हता इंटर के स्थान पर ग्रेजुएट और एक वर्षीय कंप्यूटर डिप्लोमा करने की मांग की। इसके अलावा अर्हकारी सेवा शिथिलीकरण व्यवस्था बहाल करने, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी के पद पर पदोन्नति 22 वर्ष करने, पुरानी पेंशन बहाल करने, स्थानांतरण अधिनियम की विसंगतियों को दूर करने, मिनिस्ट्रीयल संवर्ग को वाहन और अभिलेख अनुरक्षण भत्ता देने, गोल्डन कार्ड की कमियों को दूर करने और एससीपी व एमएसीपी की वार्षिक गोपनीय आख्या में संशोधित करने की मांग की। प्रदर्शन करने वालों में महामंत्री जीवन ओली, राजेंद्र भट्ट, आरएन पंत, नंदन सिंह परिहार, खीम सिंह बिष्ट, रमेश सिंह बोहरा, महेश सिंह, रवींद्र पांडेय, धीरेंद्र भंडारी, कैलाश नाथ महंत, मिंटू सिंह राणा, सोबन सिंह, महेश पांडेय, विकास वर्मा, गणेश जोशी, विजय पाठक, महेश भट्ट, संतोष उप्रेती, संदीप मेहता, प्रकाश सिंह आदि शामिल रहे।

संबंधित खबरें