DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आठ साल बाद नहीं मिला ग्रामीणों को भूमि का मुआवजा

वर्ष 2010 में पीएजीएसवाई की ओर से बनी चौड़ापिता -परेवा 9 किमी सड़क का मुआवजा अब तक ग्रामीणों को नहीं मिल पाया है। इससे ग्रामीणों में आक्रोश है। नाराज ग्रामीणों ने शीघ्र सड़क निर्माण में काटी गई भूमि का मुआवजा नहीं देने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

पीएमजीएसवाई ने लोहाघाट से वर्ष 2010 में 9 किमी सड़क चौड़ापिता और परेवा तक सड़क का निर्माण किया था। इसमें चौड़ापिता और परेवा के ग्रामीणों कि कई नाली कृषि भूमि को काट दिया था। ग्रामीणों का आरोप है कि 8 साल बीतने के बाद अभी तक उन्हें भूमि का मुआवजा नहीं मिला है। कहा ग्रामीणों ने लोगों को सड़क की सुविधा मिले इसलिए भूमि दे दी थी। कहा 8 वर्ष बीतने के बाद अभी तक किसानों को भूमि का मुआवजा नहीं पाया हैं। सामाजिक कार्यकर्ता भगवान सिंह परवाल ने कहा कृषि भूमि के जाने के बाद ग्रामीण कृषि कार्य भी नहीं कर पा रहे हैं। इससे उनके सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया हैं। उन्होंने शीघ्र ग्रामीणों को मुआवजा देने की मांग उठाई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Land not compensated for villagers after eight years