DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंधड़ के कारण चम्पावत के कई गांवों में गुल रही बत्ती

अंधड़ के कारण चम्पावत के कई गांवों में गुल रही बत्ती

मंगलवार देर शाम आए अंधड़ से कई हिस्सों में भारी नुकसान हुआ है। इसके चलते फल और सब्जियां, गेहूं आदि की बर्बादी हुई। साथ ही, बिजली लाइन में पेड़ गिरने से ग्रामीण क्षेत्रों में 17 घंटे से अधिक समय तक बत्ती गुल रही। इसके चलते लोगों को तमाम दिक्कतें उठानी पड़ीं।

जिला मुख्यालय से 13 किमी दूर मझेड़ा गांव के ऊपर विद्युत लाइन पर चीड़ का पेड़ गिर गया। ऊर्जा निगम के कर्मचारियों को विद्युत लाइन में फॉल्ट आने की सूचना मिलने के बाद मौके पर रवाना हो गए। लेकिन रात का वक्त होने के चलते लाइन में आए फाल्ट को ठीक नहीं किया जा सका। बुधवार की सुबह ऊर्जा निगम के अधिकारियों ने कर्मचारर विद्युत लाइन में आए फाल्ट को ठीक करने के लिए निकल गए। कर्मचारियों को मझेड़ा के ऊपर लाइन में पेड़ गिरने की जानकारी मिली। अंधड़ के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में मंगलवार शाम छह बजे से बुधवार सुबह नौ बजे विद्युत आपूर्ति शुरू नहीं हो पाई। विद्युत लाइन में पेड़ गिरने से मुड़ियानी, बनलेख, धूरा, कसान, मौराड़ी, धौन,बजौन, मझेड़ा, बडोली, स्वाला, अमोड़ी, चल्थी, सल्ली, पत्थरमौन के ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। ऊर्जा निगम जेई रमेश पंत ने बताया कि मझेड़ा के ऊपर बिजली लाइन पर पेड़ गिरने से तार टूट गए थे। इसके चलते ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई थी। कर्मचारियों को भेजकर लाइन पर आए पेड़ को हटाकर बिजली आपूर्ति सुचारू कर दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Due to the blindness of many villages in Champawat