DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छुट्टी के दिनों का मानदेय नहीं काटे जाने की मांग

युवा कल्याण विभाग की ओर से तमाम कार्यालयों में आउटसोर्स से तैनात वाहन चालकों ने छुट्टी के दिनों का मानदेय काटे जाने पर नाखुशी जताई है। इस बावत उन्होंने डीएम को ज्ञापन सौंप अवकाश के दिनों का मानदेय नहीं काटे जाने की अपील की है। आउटसोर्स से तैनात वाहन चालकों का कहना है कि उन्हें पहले से ही कम मानदेय दिया जाता है। अब छुट्टी के दिन का मानदेय काटे जाने से उनके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। उनका कहना है कि माह में चार रविवार और एक द्वितीय शनिवार का अवकाश काटे जाने से 2600 रुपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है। इन पांच दिनों के अलावा अन्य अवकाश होने पर काटी जाने वाली धनराशि में और बढ़ोत्तरी हो जाएगी। वाहन चालकों का यह भी कहना है कि शासनादेश में वाहन चालकों को सिर्फ आठ घंटे ड्यूटी करने की बात कही है। जबकि हकीकत में वाहन चालक वीआईपी के अलावा रात में भी ड्यूटी करते हैं। लेकिन तय समय से अधिक ड्यूटी करने का भुगतान नहीं किया जाता है। बुधवार को डीएम को सौंपे ज्ञापन में वाहन चालक रवीश जोशी, रमेश जोशी, भुवन लाल, गोविंद सिंह, मोहन राम, मनोज कुमार, गोपाल राम, त्रिभुवन, कमल पाटनी, किशोर और त्रिभुवन राम ने छुट्टी के दिनों का मानदेय नहीं काटे जाने की अपील की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Demand for not deducting honorarium of holiday days