भू-कटाव के बाद एनएच पर खतरा बने कई पेड़

हिन्दुस्तान टीम , चम्पावत Last Modified: Thu, Jul 23 2020. 13:50 PM IST
offline

बारिश के बाद ऑलवेदर सड़क पर जगह-जगह भू-कटाव हुआ है। भू-कटाव से कई विशालकाय पेड़ों की जड़ें खोकली हो गई हैं। इससे पेड़ों के गिरने का खतरा बना हुआ है। समय रहते इन पेड़ों को काटा नहीं गया तो बड़ी दुर्घटना के कारण बन सकते हैं। ऑलवेदर सड़क निर्माण के दौरान तिलौन, मानेश्वर और खूनाबोरा के पास एनएच किनारे स्थित पेड़ों की जड़ें कट गई थी। बारिश के बाद कई पेड़ नीचे से खोकले हो गए हैं। खोकले हो चुके ये पेड़ आवाजाही करने वालों के लिए दुर्घटना का सबब बने हुए हैं। इनमें अधिकांश पेड़ देवदार के हैं। बीते दिनों पेड़ों के गिरने से कई बार आवाजाही बाधित हुई है। दो साल पूर्व ही तिलौन के पास एक कार में पेड़ गिरने से दो महिलाओं को जान गवानी पड़ी थी। अब इस मानसून भी ये पेड़ लोगों के लिए खतरा बने हुए हैं। वन विभाग की ओर से इन पेड़ों के निस्तारण की कार्यवाही शुरू करते हुए वन पंचायत पुनेठी को अनुमति दी जा चुकी है। लेकिन अब तक पेड़ों को हटाने की प्रक्रिया शुरू नहीं की जा सकी है। इससे बारिश के समय लोगों के लिए खतरा बना हुआ है।

ऐप पर पढ़ें
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।
हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें