ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंड बागेश्वरस्मैक तस्करी मामले में दो युवकों को छह-छह माह की कठोर कारावास की सजा

स्मैक तस्करी मामले में दो युवकों को छह-छह माह की कठोर कारावास की सजा

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट गुंजन सिंह ने एनडीपीएस अधिनियम के मामले दो युवकों को छह-छह महीने की कठोर कारावास की सजा सुनाई। दस-दस हजार रुपये के अर्थदंड...

स्मैक तस्करी मामले में दो युवकों को छह-छह माह की कठोर कारावास की सजा
हिन्दुस्तान टीम,बागेश्वरFri, 14 Jun 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट गुंजन सिंह ने एनडीपीएस अधिनियम के मामले दो युवकों को छह-छह महीने की कठोर कारावास की सजा सुनाई। दस-दस हजार रुपये के अर्थदंड से भी उन्हें दंडित किया है।
घटनाक्रम के अनुसार नौ मई 2023 को एसआई संजय बृजवाल पुलिस टीम के साथ नगर में गश्त कर रहे थे, तभी मुखबिर ने एआरटीओ कार्यालय के समीप दो संदिग्ध युवकों के दिखने की सूचना दी। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। दोनों युवकों को पड़ लिया। सीओ अंकित कंडारी के समक्ष तलाशी लेने पर भूपेंद्र दानू पुत्र हुकुम सिंह निवासी कठायतबाड़ा के पास से 1.78 ग्राम तथा ललित सिंह दानू पुत्र जगत सिंह निवासी धूर, कपकोट के पास से 2.58 ग्राम स्मैक बरामद हुई। आरोपियों के खिलाफ 8/21 एनडीपीएस अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया। एसआई मीना रावत ने मामले की विवेचना कर न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल किया। अभियोजन पक्ष की ओर से न्यायालय में आठ गवाह पेश कराए गए। शुक्रवार को सीजेएम ने गवाहों को सुनने तथा पत्रावलियों का अवलोकर करने के बाद आरोपियों को दोषसिद्ध पाया। उन्हें छह-छह महीने का कठोर कारावास की सजा सुनाई। साथ ही दस-दस हजार रुपये का अर्थदंड लगाया। अर्थदंड जमा नहीं कराने पर आरोपियों को दो-दो महीने का अतिरिक्त कारावास भोगना होगा। मामले की पैरवी नामिका अधिवक्ता नंद किशोर भट्ट ने की।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।