DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांडा में स्वयंवर और धरमघर में सीता हरण

कांडा में स्वयंवर और धरमघर में सीता हरण

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में रामलीला मंचन जारी है। कांडा में तीसरी रात सीता स्वयंवर का मंचन हुआ। दुग नाकुरी के धरमघर में सीता हरण और पचार में लंका दहन का मंचन हुआ। ठंड के बावजूद दर्शकों ने देर रात तक लीला का आनंद उठाया। कांडा की रामलीला का शुभारंभ सीता स्वयंवर से हुआ।

देश विदेश से आए राजा शिव धनुष को तोड़ने का प्रयास करते हैं। विश्वामित्र की आज्ञा पर राम धनुष को तोड़कर सीता से विवाह रचाते हैं। शिव धनुष टूटते ही परशुराम का प्रवेश होता है। लक्ष्मण-परशुराम संवाद का दर्शकों ने भरपूर आनंद उठाया। इस मौके पर डा. विनोद साह, भैरव चंदोला, नरेंद्र नगरकोटी, पूरन सिंह नगरकोटी, भूपाल सिंह नगरकोटी, अनिल चंदोला आदि मौजूद रहे। धरमघर की रामलीला में शूर्पणखा नासिका छेदन, खरदूषण वध और सीता हरण का मंचन हुआ। कलाकार दीपक उप्रेती, हेम पाठक, प्रांजल वर्मा, धीरज प्रवीण ने दर्शकों का मन मोहा। पचार की रामलीला में हनुमान का लंका में प्रवेश, अशोक वाटिका तहस-नहस करना, अक्षय कुमार वध, लंका दहन का मंचन किया गया। इस मौके पर योगेश हरडि़या, चंचल रैखोला, सुरेश गडि़या, हर्ष सिंह आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sita defeated Swami in Kanda and Dharamghar