DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क निर्माण में पनचक्की और नहर टूटी

सड़क बनाने वालों ने गांव की पनचक्की, नहर और पानी की लाइन तोड़ दी है। ग्रामीण दस किमी दूर भराड़ी आकर गेहूं पिसाई कर रहे हैं। जिससे उनमें भारी रोष है। उन्होंने डीएम से न्याय की गुहार लगाई है। नुकसान की भरपाई नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

चीराबगड़ के ग्राम प्रधान गजेंद्र सिंह धामी के नेतृत्व में ग्रामीणों ने बुधवार को डीएम को ज्ञापन दिया। उन्होंने कहा कि कपकोट-कर्म मोटर मार्ग का निर्माण हो रहा है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क काटी गई है। उन्होंने कहा कि सड़क के मलबे बोल्डर, पत्थर आदि से पनचक्की तहस-नहस हो गई है। जिससे 60 परिवारों के सामाने संकट पैदा हो गया है। वह गेहूं, मडूवा और अन्य खाद्यान्न की पिसाई नहीं कर पा रहे हैं। मजबूरी में उन्हें दस किमी दूर भराड़ी चक्की आना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि 60 साल पुरानी नहर भी क्षतिग्रस्त हो गई है। मिट्टी और मलबे से नहर पट गई है। पंचायतघर की तरफ से पेयजल लाइन को भी क्षति पहुंचाई गई है। जिससे गांव में पानी की किल्लत हो गई है। उन्होंने कहा कि जेसीबी मशीनों से सड़क खोदी जा रही है। उन्होंने डीएम से ग्रामीणों को न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। उन्होंने चेताया कि यदि शीघ्र नुकसान की भरपाई नहीं होती है तो ग्रामीण आंदोलन को बाध्य होंगे। इस मौके पर प्रकाश जोशी, शेर सिंह दानू, नवीन धामी, त्रिलोक सिंह मेहता, सतीश चंद्र जोशी आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Road breaks water and canal