DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बारिश से पेयजल योजनाएं प्रभावित

बारिश से नदियों में भारी मात्रा में सिल्ट आ गया है। शहर से लेकर गांव तक गंदे पानी की सप्लाई हो रही है। इससे ग्रामीण गंदे पानी पीने को मजबूर हो रहे है। उन्होंने विभाग से समस्या से निजात दिलाने की मांग की है। मंगलवार रात बागेश्वर में आठ एमएम बारिश रिकार्ड की गई। जबकि गरुड़ में 21 एमएम और कपकोट में 13 एमएम बारिश हुई। जिससे सरयू और गोमती का पानी गंदा हो गया है। नगर से लेकर गांव तक गंदे पानी की सप्लाई होने लगी है। गंदा पानी नलों में आने से लोगों में भारी रोष है। वहीं कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की अभी भी किल्लत बनी हुई है। चौरासी, मंडलसेरा, मजियाखेत, मन्यूड़ा में कई दिनों से पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है। मेहनरबूंगा और खरेही क्षेत्र में भी पानी की दिक्कत बनी हुई है। उपभोक्ता प्रेम सिंह, जशोदा देवी, करम सिंह, जसवंत सिंह, गीता देवी आदि ने कहा कि घरों में गंदे पानी की सप्लाई की जा रही है। जिससे प्राकृतिक स्रोतों का रुख करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि यदि साफ पानी की आपूर्ति नहीं हुई तो वे आंदोलन को बाध्य होंगे। इधर ईई नंदकिशोर ने बताया कि फिल्टरों की गुणवत्ता खराब होने के कारण पानी ठीक से फिल्टर नहीं हो पा रहा है। कहा कि उच्च गुणवत्ता के फिल्टर लगाने के लिए प्रस्ताव बनाया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rain water schemes affected