DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अध्यापकों की नियुक्ति की मांग की

शिक्षकों की नियुक्ति नहीं होने से नाराज अभिभावकों ने डीएम को ज्ञापन दिया। इस दौरान उन्होंने शीघ्र स्कूलों में अध्यापकों की नियुक्ति नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी।

बुधवार को हरकोट के ग्रामीणों ने डीएम को ज्ञापन दिया। उन्होंने कहा कि अनुसूचित बाहुल्य क्षेत्र होने के बाद भी यहां के विद्यालयों में अध्यापकों की नियुक्ति नहीं की जा रही है। जिस कारण बच्चों का पठन-पाठन पूरी तरह से प्रभावित हो गया है। कहा कि एक ओर सरकार अनुसूचित बच्चों के कल्याण के लिए कई दावे कर रही है। वहीं दूसरी ओर विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति नहीं जा रही है। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग ने वर्ष 2016 में राजेंद्र सिंह का प्रमोशन कर यहां भेजा था। लेकिन विद्यालय के प्रधानाचार्य को अन्यत्र स्थानांतरित कर दिया गया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में विद्यालय प्राथमिक के एकल अध्यापक के भरोसे चल रहा है। कहा कि वे कई बार शासन-प्रशासन और जनप्रतिनिधियों से अध्यापकों की नियुक्ति को गुहार लगा चुके हैं। इसके बावजूद भी अध्यापकों की नियुक्ति नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि अभिभावक अपने पाल्यों के भविष्य के साथ किसी भी तरह का खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं करेंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर शीघ्र अध्यापक विहीन स्कूलों में अध्यापकों की नियुक्ति नहीं करने पर सड़कों पर उतरने को बाध्य होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Parents demand recruitment of teachers