DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नुक्कड़ नाटक के माध्यम से दिया पानी बचाने का संदेश

ब्लाक सभागार में जल संचय और संरक्षण के लिए गोष्ठी का आयोजन हुआ। जिसमें कोटद्वार से आई सांस्कृतिक टीम ने नुक्कड़ जल संचय और संरक्षण का संदेश दिया। कार्यक्रम में स्वजल परियोजना ने भी सहयोग दिया। जन चेतना रथ के तहत पानी बचाने के लिए पूरे राज्य में अभियान चलाया जा रहा है। जिलाधिकारी के निर्देशन में चल रहे इस अभियान में रेखीय विभाग भी शामिल हैं। कार्यक्रम का शुभारंभ 25 मई को सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जन चेतना रथ को हरी झंडी दिखाकर किया था। गुरूवार को रथ गरुड़ पहुंचा। जहां ब्लाक सभागार में हुए कार्यक्रम में कोटद्वार से आई टीम के अनिल शर्मा, सरोज चौहान, पुष्पा भट्ट, सुरेश पाल, मृदुल आदि ने लघु नाटिका पानी को किस प्रकार बचाएं का आयोजन कर लोगों को जल संचय के विभिन्न तरीके बताए। उन्होंने चाल-खाल बनाने, प्राकृतिक स्रोतों के पास पौधरोपण करने आदि के लिए प्रेरित किया। स्वजल के गिरिजा शंकर भट्ट कहा कि पानी बचाने के लिए सभी को एकजुट होकर प्रयास करना होगा। उन्होंने ग्र्रामीणों से पानी की बर्बादी रोकने और जल संरक्षण के लिए आगे आने को कहा। इस मौके पर व्यापार मंडल जिलाध्यक्ष नवीन ममगाई, राजेदं्र सिंह सहित तमाम गांवों के लोग मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Message to save water through street play